पशुपति पारस ने रुचिदा शर्मा को 5 साल के लिए किया निलंबित, लगा ये बड़ा आरोप

पटना: बुधवार को केंद्रीय मंत्री तथा राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी (RLJP) के प्रमुख पशुपति कुमार पारस ने पार्टी की राष्ट्रीय सचिव रुचिदा शर्मा को पार्टी विरोधी गतिविधियों में सम्मिलित होने के आरोप में 5 वर्ष के लिए सस्पेंड कर दिया। इस बीच, RLJP संसदीय बोर्ड ने मणिपुर समेत सभी 5 चुनावी प्रदेशों में अपने गठबंधन सहयोगी बीजेपी के प्रत्याशियों का समर्थन करने का निर्णय लिया है। रुचिदा शर्मा RLJP की उत्तर-पूर्व प्रभारी हैं। उन्होंने बीते सप्ताह ऐलान किया था कि उनकी पार्टी आगामी मणिपुर विधानसभा चुनावों में 20 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

गौरतलब है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के देहांत के पश्चात् लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) में फूट पड़ गई थी, जिसके पश्चात् बेटे चिराग पासवान एवं भाई पशुपति पारस के नेतृत्व वाले गुट पार्टी के लिए दावा कर रहे थे। तत्पश्चात, चुनाव आयोग (EC) ने लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के दोनों गुटों को नए नाम तथा प्रतीक आवंटित किए थे। इनमें से एक का नाम राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी (RLJP) तथा दूसरे का नाम लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) रखा है। RLJP का नेतृत्व पशुपति पारस जबकि LJP (रामविलास) के नेतृत्व चिराग पासवान कर रहे हैं। RLJP को चुनाव चिन्ह बल्ला तथा LJP (रामविलास) को चुनाव चिन्ह हेलीकॉप्टर दिया गया है।

वही चिराग पासवान ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला द्वारा पशुपति कुमार पारस को सदन में पार्टी के संसदीय दल के नेता के तौर पर नामित करने के निर्णय के विरुद्ध दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका भी दायर की थी। हालांकि, दिल्ली हाई कोर्ट ने चिराग पासवान की याचिका को यह बोलते हुए खारिज कर दिया था कि इसमें कोई दम नहीं है।

आज श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा में होंगे अमित शाह, मतदाताओं से करेंगे सीधे संवाद

'मेरे फॉलोवर्स रोक रहा Twitter.., आवाज़ दबा रहा..', राहुल गांधी का आरोप

गणतंत्र दिवस पर उत्तराखंड की टोपी और मणिपुर का गमछा पहने दिखे पीएम मोदी, जानें इसके सियासी मायने

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -