मलेशिया मास्टर्स में लय जारी रखना चाहती है PV सिंधु

स्टार शटलर PV सिंधु और HS प्रणय मंगलवार से यहां शुरू हो रहे मलेशिया मास्टर्स सुपर 500 बैडमिंटन टूर्नामेंट में इंडियन चुनौती की अगुवाई करने वाले है। PV सिंधु और प्रणय को पिछले हफ्ते मलेशिया ओपन सुपर 750 के क्वार्टर फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था और ये दोनों खिलाड़ी इस हफ्ते शुरू हो रहे टूर्नामेंट में अपने खेल की खामियों को दूर कर सुधार करना चाहते है। 

PV सिंधु ने इस साल सैयद मोदी इंटरनेशनल और स्विस ओपन के रूप में 2 सुपर 300 खिताब जीते हैं, वहीं प्रणय खिताब जीतने के 5 वर्ष के लंबे इंतजार को समाप्त करने के लिए बेताब हैं। दो बार की ओलंपिक पदक विजेता सिंधू वर्ल्ड टूर स्पर्धाओं के क्वार्टर और सेमीफाइनल में निरंतर पहुंच रही हैं, लेकिन शीर्ष खिलाड़ियों के खिलाफ वह थोड़ी कमजोर दिखाई दे रही है। 

इस वर्ष कई टूर्नामेंटों के आखिरी के कुछ मैचों में उन्हें थाईलैंड की रत्चानोक इंतानोन, चीन की चेन यू फेई और ही बिंग जियाओ, कोरिया की आन से यंग और चीनी ताइपे की ताई जू यिंग जैसी खिलाड़ियों के विरुद्ध हार को झेलना पड़ गया है। इसने उनकी कमजोरियों को उजागर कर दिया है और वह आगामी राष्ट्रमंडल खेलों से पहले इसे दूर करने का प्रयास करने वाले है। पूर्व विश्व चैम्पियन सिंधू के सामने शुरुआती दौर में बिंग जियाओ की चुनौती होने वाली है। इस खिलाड़ी ने पिछले महीने इंडोनेशिया ओपन सुपर 1000 में सिंधू को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। 

बिंग जियाओ के विरुद्ध PV सिंधु के जीत-हार का रिकॉर्ड भले ही 8-10 का है लेकिन इस इंडियन रतीय खिलाड़ी ने तोक्यो ओलंपिक सहित बीते चार में से तीन मुकाबले में जीत हासिल कर चुकी है। इस सत्र में शानदार प्रदर्शन कर रहे प्रणय बीते वर्ष विश्व चैंपियनशिप के उपरांत से निरंतर क्वार्टर फाइनल में पहुंच रहे हैं। इंडियन  टीम की थॉमस कप में ऐतिहासिक जीत के सूत्रधार रहे प्रणय के पास चैम्पियन बनने की काबिलियत है लेकिन वह आखिरी के कुछ मैचों की बाधा करने में असफल हो रहे है। 

केरल का यह 29 वर्ष का खिलाड़ी इंडोनेशिया सुपर 1000 में सेमीफाइनल में पहुंच गया था। वह मलेशिया में इंडोनेशिया के शेसर हिरेन रुस्तवितो के खिलाफ अपना अभियान शुरु करने वाले है। जिसके उपरांत के दौर में उनके सामने जोनाथन क्रिस्टी की चुनौती होगी जिन्होंने इस खिलाड़ी को पिछले हफ्ते था। अन्य इंडियन में, बी साई प्रणीत पहले दौर में ग्वाटेमाला के केविन कॉर्डन से भिड़ेंगे जबकि चोट से वापसी कर रहे समीर वर्मा के सामने चौथी रैंकिंग प्राप्त ताइवान के चोउ टिएन चीन की मुश्किल चुनौती होने वाली है।

2 बार की राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता साइना नेहवाल कोरिया की किम गा यून के विरुद्ध  अपना अभियान शुरू करने वाली है। युगल वर्ग में राष्ट्रमंडल खेलों के लिए चुनी गई त्रिशा जॉली और गायत्री गोपीचंद की जोड़ी मलेशिया की पर्ल टैन और थिनाह मुरलीधरन की जोड़ी से भिड़ने वाली है, जबकि राष्ट्रमंडल खेलों की पूर्व कांस्य पदक विजेता अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी क्वालीफाइंग जोड़ी के खिलाफ पहला मैच खेलने वाली है। 

आइसलैंड से हारी भारतीय अंडर 17 महिला टीम

ग्रास कोर्ट मुकाबले में जीत हासिल कर क्वाटर्रफाइनल में पहुंचे नोवाक जोकोविच

अपने पहले कभी नहीं देखा होगा इस टेनिस खिलाड़ी का ऐसा अवतार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -