शीतकालीन सत्र: राज्यसभा के साथ ही शुरू हुआ विपक्ष का हंगामा, सदन की कार्यवाही स्थगित

नई दिल्ली: संसद में जारी शीतकालीन सत्र का आज चौथा दिन है. राज्यसभा के 12 सांसदों के निलंबन के मुद्दे पर गुरुवार को भी उच्च सदन में विपक्षी सांसदों ने जमकर हंगामा किया. निलंबित सांसदों ने संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष प्रदर्शन कर अपना विरोध प्रकट किया, जिसमें कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हुए. सरकार सांसदों से माफी की मांग कर रही है, किन्तु वे इससे इनकार कर रहे हैं.

उच्च सदन में बुधवार को सांसदों के निलंबन के मामले पर हंगामे के बीच सदन की कार्यवाही कई बार बाधित हुई, जिसके बाद सदन की कार्यवाही को दोपहर 3 बजे पूरे दिन के लिए स्थगित कर दिया गया. वहीं निचले सदन में कल असिस्टेड रिप्रोडक्टिव टेक्नोलॉजी (रेगुलेशन) बिल, 2020 पारित हुआ. इस विधेयक का मकसद तकनीक समर्थित प्रजनन सेवाओं का नियमन करना है. इसके लिए सहायक प्रजनन तकनीक (ART) सेवाओं से संबंधित क्लीनिक, लैब और मेडिकल प्रोफेशनल के लिए एक राष्ट्रीय बोर्ड गठित किया जाएगा.

वहीं, आज उच्च सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्षी दलों ने सांसदों के निलंबन के मुद्दे पर हंगामा करना शुरू कर दिया, जिसके चलते सदन को दोपहर 12 बजे तक स्थगित कर दिया गया. सभापति वेंकैया नायडू सभी पार्टियों के सांसदों से अपनी सीट पर बैठने का आग्रह किया, किन्तु इसके बाद भी हंगामा नहीं थमा. वहीं, इससे पहले पीएम नरेंद्र मोदी शीतकालीन सत्र में रणनीतियों पर चर्चा के लिए केंद्रीय मंत्रियों के साथ संसद भवन में बैठक की. दरअसल, कई मुद्दों पर विपक्ष के हंगामे की वजह से दोनों सदन लगातार बाधित हो रहे हैं, इसलिए पीएम मोदी ने रणनीति पर चर्चा करने के लिए यह बैठक बुलाई थी.

विपक्षी दल अपने दम पर बीजेपी से नहीं लड़ सकते: दिनेश शर्मा

वाजिद अली शाह प्राणी उद्यान के 100 वर्ष हुए पूरे, समरोह में पहुंचकर सीएम योगी ने की इनसे मुलाकात

केरल में राज्यसभा की एक सीट के लिए उपचुनाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -