देश में संसद चलने देने की मांग उठाने की जरूरत आन पड़ी है : PM मोदी

By Lav Gadkari
Sep 11 2015 01:06 PM
देश में संसद चलने देने की मांग उठाने की जरूरत आन पड़ी है : PM मोदी

चंडीगढ़ : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चंडीगढ़ में आयोजित की जा रही रैली को संबोधित किया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज़ादी के दीवानों को शहीदों को याद करना जरूरी है। आजादी का 75 वां साल कैसा हो इस पर विचार किया जाना चाहिए। साथ ही विकास का मंथन भी किया जाना चाहिए। ये 75 वर्ष 7 साल बाद आऐंगे। भारत के गरीब से गरीब व्यक्ति को भी रहने के लिए घर दिया जाना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि एनडीए सरकार गरीबों के कल्याण के लिए है। गरीब से गरीब को घर दिलवाने के लिए सरकार कार्य कर रही है। 2022 तक गरीब से गरीब तक को घर देने का लक्ष्य सरकार ने रखा है। देश के लिए सेना में योगदान देने वाले लोग यहां करीब- करीब हर परिवार में मिलेंगे। 

ऐसे में मां भारत की इन रक्षकों के परिवार के लोगों के लिए गंभीरता से कदम उठाया जा रहा है। सेना के लिए एनडीए सरकार ने वन रैंक वन पेंशन पर काम किया। पुरानी किसी सरकार ने वन रैंक वन पेंशन पर क्या-क्या परेशानी आने वाली है या इसके लिए क्या किया जा सकता है यह कुछ नहीं सोचा।

पुरानी सरकार ने 500 करोड़ रूपए का वन रैंक वन पेंशन घोषित कर दिया। जब हिसाब लगाने पहुंचते तो मामला 10 हजार करोड़ तक पहुंच गया। मगर देश की रक्षा के लिए जीवन चुकाने वालों की जिंदगी इससे ज़्यादा मूल्यवान है इसलिए गरीब से गरीब व्यक्ति ने भी कदम उठाया। ओआरओपी के लिए नरेंद्र मोदी को धन्यवाद नहीं धन्यवाद करना है तो देश के गरीबों के लिए कीजिए जो अपने अधिकार का छोड़कर सेना के लोगों के लिए जी रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश को विकास की नई ऊंचाईयों पर ले जाने के लिए सरकार चला रहे हैं। दिल्ली में पूर्ण बहुमत वाली सरकार है। देश की जनता पिछली सरकारों को कभी माफ नहीं करेगी।

लोकतंत्र के लिए देश में जागरूकता लाने की आवश्यकता है। उन्होंने विपक्ष से मांग की कि संसद में चर्चा कीजिए, संसद को चलने दीजिए। मोदी का हिसाब मांगिए लेकिन संसद को चलने दें। इस बात की जागरूकता का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि विपक्ष संसद को चलने ही नहीं देता है। लोकसभा के बाद जनसभा होती है और जनसभा किसी से कम नहीं होती है। यदि विदेशों से काला धन वापस लाना हो, बीमा स्कीम लानी हो, अटल पेंशन योजना चलानी हो लेकिन सरकार इस दिशा में कार्य करती रही। सरकार ने इन क्षेत्रों में निर्णय किए। किसानों के हित में कार्य करने की भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बात कही। उन्होंने कहा कि हर परिवार को स्मार्ट सिटी में अपने योगदान के लिए विचार होना चाहिए। स्मार्ट सिटी कैसी हो इस पर लोगों में चर्चा होना चाहिए।

स्मार्ट सिटी की काॅंपीटिशन युवाओं में होना चाहिए। लोगों में इस बात की जागरूकता होना चाहिए। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ को अपने आपको तैयार रखना होगा। स्मार्ट सिटी के लिए जनआंदोलन करना होगा। सरकार विकास का मंत्र लेकर चल रही है। विकास के इस युद्ध में विकास की नई ऊंचाई मिले यह प्रयास किया जा रहा है।