माता- पिता ने शहीद बेटे का बनवाया मंदिर, भगवान की तरह पूजते हैं रोजाना

जबलपुर: आज हम आपको ऐसे ही शहीद के बारे में बताने जा रहे हैं. जिसके परिवार वाले उससे भगवान की तरह पूजनीय मानते हैं. जी हां पुलवामा में बीते दिन ही 45 जवानों ने आतंकी हमले में शहादत दी थी वहीं आज तक देश इस घटना से उभर नहीं पाया हैं. देश के वीर सपूतो की शहादत को हर हिंदुस्तानी सलाम कर रहा है लेकिन एक ऐसे माता-पिता ऐसी भी है जो अपने पुत्र के शहादत के पश्चात् घर में उसका मंदिर बना कर उसे भगवान के रूप में पूजते हैं.

वह एक गरीब परिवार में पैदा हुए. लेक़िन, उनकी शहादत ने पूरे देश को गर्व महसूस कराया हैं. इस वीर सपूत ने अपने परिवार का नाम देशभर में रोशन कर दिया हैं. यही नहीं एक दिहाड़ी मां बाप को आज तक जो कोई भी पूछता नहीं था. वहीं, आज उनके बेटे के वीरता के चर्चे होते हैं और उन्हें लोग बहुत सम्मान देते हैं. उसके पास राजनेताओं से लेकर गांव शहर के लोग भी पैर छूने आते हैं.

आज हम बात कर रहे हैं जबलपुर शहर से 58 किलोमीटर दूर सिहोरा तहसील के ग्राम खुड़ावल की. जहां पर 30 वर्षीय अश्विनी कुमार काछी पिछले वर्ष पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हो गए थे. उस समय मध्यप्रदेश से एक जवान शहीद हुआ था, जिसे लेकर मुख्यमंत्री पूर्व मुख्यमंत्री और कई राजनेता व प्रशासनिक अधिकारी उसके गांव पहुंचे थे और विनम्र श्रद्धांजलि देते हुए अंत्येष्टि में सम्मलित हुए थे.

मल्टी-सिटी स्क्रीनिंग में फिल्म 'थप्पड़' को मिली सराहना

शिमला घूमने आई ब्रिटिश महिला को मिला यह अनोखा तोहफा

जानिये केसीसी बैंक के लोन खातों का विशेष ऑडिट होगा या नहीं

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -