पनामा पेपर्स हुए लीक, उजागर हुए 2000 टेक्स चोर भारतीयों के नाम

नई दिल्ली : पनामा पेपर्स को उजागर होने से दो हजार भारतीयों के नाम सामने आए हैं यह वे लोग है जिनका अकूत पैसा इस टैक्स हेवन देश में है। इन लोगो की लिस्ट में दिल्ली, मुंबई कोलकाता चेन्नई के अलावा सिरसा, मुजफ्फरपुर व मंदसौर और भोपाल से भी तार जुड़े हैं। 

हम आपको बता दे कि दूसरे दौर की जानकारियों में चालीस सालों का लेखा-जोखा है। यह आंकड़े वर्ष 1977 से लेकर 2015 के अंत तक के हैं। इसके तहत पनामा पेपर्स ने टैक्स चोरी कर अकूत धन पनामा में जमा करने वाले धनकुबेर भारतीयों के बारे में खासी जानकारी दी हैं। इस सूचि में 22 भारतीय संस्थाओं, 1046 अफसरों या निजी खाते, 42 मध्यस्थों और देश में 828 पतों की जानकारी सामने आई है।

इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स ने सोमवार को देर रात जनहित में इन आंकड़ों की पोल खोल दी है। अभी इसमें खुफिया जानकारियों का और पता लगाने की जरूरत है। इसके तहत करीब 2,14,000 विदेशी कंपनियों की खुफिया जानकारी है जिनका न्यायाधिकार क्षेत्र 21 देशों में है। यह देश नेवादा से लेकर हांगकांग और ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड तक फैले हुए हैं। हम आपको बता दे की सुप्रीम कोर्ट ने भी विगत सोमवार को पनामा पेपर्स में विदेशी खाताधारकों के खिलाफ सीबीआइ जांच को लेकर केंद्र से जवाब मांगा है। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -