पठानकोट हमला : पाकिस्तान ने भारत पर लगाए गम्भीर आरोप

इस्लामाबाद: पठानकोट आतंकी हमले की जांच को लेकर पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि दोनों देशों के सहयोग से जांच जारी है. पाकिस्तान ने कहा कि भारत ने बाकी गवाहों के बयान दर्ज कराए लेकिन सुरक्षा एजेंसियों के लोगों के बयान दर्ज नहीं कराए गए.

पाकिस्तान ने कहा कि भारत ने पठानकोट हमले के मामले में पाकिस्तानी संयुक्त जांच दल (JIT) के सामने सुरक्षा बलों से जुड़े गवाहों को पेश नहीं किया. पठानकोट और नई दिल्ली का दौरा करके JIT के लौटने के बाद यह पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय द्वारा जारी किया गया पहला बयान है.

पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के बयान के अनुसार, ‘‘JIT ने हमले की जगह का मुआयना किया और कुछ गवाहों के बयान भी दर्ज किये. हालांकि भारतीय सुरक्षा बलों से जुड़े गवाहों को उसके सामने पेश नहीं किया गया.’’ 

विदेश मंत्रालय ने कहा कि ‘‘ JIT ने NIA को पाकिस्तान में जांच की प्रगति पर जानकारी दी. आगे जांच जारी है.’’ बयान के अनुसार यह दौरा आतंकवाद के सभी स्वरूपों से दम लगाकर लड़ने की पाकिस्तान सरकार के दृढ़ निश्चय के तहत उसके सहयोगात्मक रुख के लिए हुआ.

भारतीय पक्ष के अनुसार जेआईटी को हमले से संबंधित सभी सबूत दिए गये जिनमें चारों आतंकवादियों के DNA के नमूने, उनकी पहचान और कॉल रिकॉर्ड भी शामिल हैं, इससे पता चलता है कि पठानकोट एयरबेस हमले में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी शामिल थे.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -