पाकिस्तानी लड़की की जेल से रिहाई

अमृतसर : गुरुवार को अमृतसर जेल से बाहर आते ही फातिमा, उनकी 11 साल की बेटी हिना और फातिमा की बहन मुमताज की ख़ुशी देखते ही बनती थी. दरअसल 10 साल से भी ज्यादा समय पहले 3 पाकिस्तानी महिलाओं को 2006 में नार्कोटिक्स स्मगलिंग करने पर उन्हें समझौता एक्सप्रेस से आते समय अटारी रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया गया था. उनपर ड्रग्स रखने का आरोप था.

बता दें कि तीनों पाकिस्तानी महिलाओं फातिमा, मुमताज और उनकी मां को स्मगलिंग करने के आरोप में भारतीय अदालत ने 10 साल की सजा और चार लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई थी. जुर्माना अदा न करने पर कोर्ट ने उन्हें 4 साल और जेल में गुजारने की सजा सुनाई थी.उनकी मां की 2008 में जेल में ही मौत हो गई थी.फातिमा जब जेल में आई थी , तब वह गर्भवती थी. अमृतसर जेल में ही उसने बेटी हिना को जन्म दिया था .ख़ास बात यह है कि हिना सिर्फ स्कूल जाने के लिए ही जेल से बाहर आती थीं. बाकी समय वो जेल में ही रहती थीं.

उल्लेखनीय है कि फातिमा और उनकी बहन मुमताज ने अपनी 10 साल की सजा नवंबर महीने में ही पूरी कर ली थी लेकिन जुर्माने की राशि न चुका पाने के कारण उन्हें रिहा नहीं किया गया था.लेकिन इस मामले पर पीएम नरेंद्र मोदी ने विशेष ध्यान दिया. जेल से रिहा होने पर फातिमा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके केस पर खास ध्यान देने के लिए न केवल शुक्रिया कहा , बल्कि उन्हें सलाम भी किया.

यह भी देखें

बांग्लादेश ने पाकिस्तान से माफ़ी मांगने को कहा

हनीप्रीत को जेल में मिल रहा VIP ट्रीटमेंट

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -