घायल पायलट की तस्वीर पोस्ट कर बुरा फंसा पाकिस्तान, जेनेवा संधि का कर बैठा उल्लंघन

नई दिल्ली: शांति का राग अलाप रहा पाकिस्तान अब उद्दंडता पर उतर आया है. एक ओर पाकिस्तान के पीएम इमरान खान अपने बयान में कहते हैं कि वे अमन चाहते हैं, तो वहीं उनकी सेना भारत के एक कमांडर को गिरफ्तार कर उनकी  तस्वीरें साझा करती है. जो कि अंतरराष्ट्रीय नियमों के खिलाफ है. किन्तु अपनी शेखी दिखाने के चक्कर में पाकिस्तान ये भूल बैठा है कि, उसने इस दफा बहुत बड़ी गलती कर दी है.

डॉलर के मुकाबले 28 पैसे की कमजोरी के साथ खुला रुपया

पूरा भारत आज अपने एयरफोर्स के विंग कमांडर के साथ खड़ा हुआ है. पाकिस्तान को ये मान लेना चाहिए कि उसे अभिनंदन को सुरक्षित हिंदुस्तान को वापस लौटाना ही होगा. सोशल मीडिया से लेकर हर ओर अभिनंदन को वापस लेने के लिए अभियान छिड़ा हुआ है और हर कोई उनकी जांबाजी को सैल्यूट कर रहा है. भारत ने पाकिस्तानी राजदूत को बुलाकर साफ कह दिया है कि हमारा पायलट हमें वापस लौटा दो, वैसे पाकिस्तान के पास ज्यादा विकल्प हैं भी नहीं. क्योंकि जेनेवा संधि के अनुसार पाकिस्तान हमारे पायलट का बाल भी नहीं कर सकता है. भारत ने आपत्ति जताते हुए कहा है कि पाकिस्तान जेनेवा संधि का उल्लंघन कर चुका है, क्योंकि उसने घायल पायलट की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किए हैं जो नियमों के विरुद्ध हैं.

कारोबारी सप्ताह के चौथे दिन मजबूती के साथ खुले शेयर बाजार

आपको बता दें कि अंतरराष्ट्रीय जेनेवा संधि में युद्धबंदियों को लेकर कड़े नियम बनाए गए हैं. इसके तहत युद्धबंदियों को डराना-धमकाना या उनका अपमान नहीं किया जा सकता है. यही नहीं जनता में युद्धबंदियों को लेकर उत्सुकता पैदा भी नहीं करनी है. संधि के अनुसार, युद्धबंदियों पर या तो मुकदमा चलाया जाता है या फिर युद्ध के बाद उन्हें वापस लौटा दिया जाता है. 

खबरें और भी:-

युवा संसद लोकतंत्र को मजबूत करने का अंग : पीएम मोदी

भारतीय वायुसेना ने पीओके में की एयर स्ट्राइक, आनंद महिंद्रा ने किया भावुक ट्वीट

डॉलर के मुकाबले कमजोरी के साथ खुला रुपया

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -