पाकिस्तान में दो हिंदू लड़कियों का अपहरण, जबरन धर्मान्तरण करने की कोशिश

Mar 22 2019 09:51 AM
पाकिस्तान में दो हिंदू लड़कियों का अपहरण, जबरन धर्मान्तरण करने की कोशिश

इस्लामाबाद: पाकिस्तान की दो किशोर हिंदू लड़कियों को होली की पूर्व संध्या पर, 20 मार्च, बुधवार को सिंध के घोटकी से कथित रूप से अगवा कर लिया गया था। लड़कियों का नाम रेवेना और रीना बताया जा रहा है और उनकी उम्र क्रमशः 16 और 14 हैं। अगले दिन, गुरुवार 21 मार्च को, हिंदू समुदाय के लोग, घोसी पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज करने से इनकार करने के विरोध में सड़क पर उतर आए।

विराट तोड़ेंगे या नहीं सचिन का विश्व रिकॉर्ड, कैलिस ने दिया इतना चौंकाने वाला जवाब

कम्युनिटी लीडर मुखी शिव मेनगवार ने प्रेस वालों को जानकारी देते हुए बताया है कि "यह स्वतंत्र इच्छा नहीं थी और लड़कियों को वास्तव में अपहरण कर जबरन धर्मांतरण कराया जा रहा था।" वहीं, पाकिस्तान टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, कराची के केंद्रीय पुलिस कार्यालय ने दावा किया है कि दोनों लड़कियों ने एक वीडियो रिकॉर्ड किया गया है, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया कि उन्होंने स्वेच्छा से अपने घर छोड़ दिया है और उन्होंने "इस्लाम को बिना किसी दबाव के" को गले लगाया है।

यहां से हर माह कमाए 62 हजार रु, सीनियर रेजिडेंट के लिए निकली भर्तियां

2016 में, सिंध विधानसभा ने जबरन धर्मांतरण के विरुद्ध एक कानून पारित किया, क्योंकि यह प्रथा क्षेत्र में आम होती जा रही थी। वहीं इस बिल को लेकर राजनीतिक दल आमने सामने आ गए थे, सिंध सरकार ने तत्कालीन गवर्नर जस्टिस (retd) सईदुज्जमान सिद्दीकी से कहा कि वे बिल का अनुमोदन न करें।

खबरें और भी:-

लंदन में गिरफ्तार हुआ 13 हजार करोड़ का घोटालेबाज मोदी, जल्द होगी कोर्ट में पेशी

वर्ल्ड बैडमिंटन रैंकिंग में लक्ष्य ने लगाई जोरदार छलांग

आखिर चीन ने स्वीकारा, मुंबई आतंकी हमला था 'अति कुख्यात’