वैश्विक दबाव के आगे झुका पाक, अब जब्त करेगा हाफिज सईद की सम्पत्तियाँ

Mar 05 2019 10:10 PM
वैश्विक दबाव के आगे झुका पाक, अब जब्त करेगा हाफिज सईद की सम्पत्तियाँ

इस्लामाबाद: 26/11 मुंबई आतंकी हमले के 10 वर्ष बाद आखिरकार पाकिस्तान सरकार ने वैश्विक दबाव के कारण हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के आतंकी संगठन जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन पर बैन लगा दिया है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की प्रतिबंधित आतंकी संगठनों की सूची के आधार पर यह आदेश जारी किया है. इससे पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने हाफिज के आतंकी संगठनों को निगरानी सूचि में डाल दिया था.

भाजपा-अकाली दल के गठबंधन को बड़ा झटका, शेर सिंह ने थामा कांग्रेस का हाथ

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय द्वारा जारी किए गए यूनाइटेड नेशन्स सेक्योरिटी काउंसिल (फ्रीजिंग एण्ड सीजर) आदेश, 2019 के अनुसार पाकिस्तान सरकार अब आतंकी संगठनों की संपत्तियां जब्त करगी. उल्लेखनीय है कि पुलवामा में CPRF के काफिले पर हुए फिदायीन आतंकी हमले के बाद पेरिस में फाइनेंशियल एक्शन टास्स फोर्स (FATF) की बैठक (18 फरवरी से 22 फरवरी) में पाकिस्तान को चेतावनी दी गई थी कि वो आतंकी फंडिंग पर अंकुश लगाने के लिए ठोस कार्यवाही करे.

एयर स्ट्राइक पर बोली शिवसेना, कहा जनता को सवाल पूछने का अधिकार

पाकिस्तान सरकार ने 21 फरवरी को आतंक के आका हाफिज सईद के संगठन जमात-उद-दावा और फालाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन पर बैन लगाने का ऐलान किया था. इसके बाद भी सोमवार को गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए गए नेशनल काउंटर टेररिज्म अथॉरिटी के आंकड़ों से पता चला है कि पाकिस्तान ने हाफिज के इन संगठनों को महज निगरानी सूचि में रखा है.

खबरें और भी:-

विश्व की सबसे प्रदूषित राजधानीयों में शीर्ष स्थान पर दिल्ली

वर्ल्ड कप के बाद इमरान ताहिर भी कहेंगे क्रिकेट को अलविदा

नोबल शांति पुरस्कार पर बोले इमरान खान, कहा मैं नहीं इसके लायक