चुनाव आयोग के फैसले से बौखलाई पाकिस्तानी सियासत

Jul 24 2018 04:59 PM
चुनाव आयोग के फैसले से बौखलाई पाकिस्तानी सियासत

इस्लामाबाद:  पाकिस्तान चुनाव आयोग (इसीपी) ने 25 जुलाई को होने वाले मतदान के लिए महिला पोलिंग बूथ पर सिर्फ महिला चुनाव अधिकारीयों को बैठाने का फैसला सुनाया है. इसीपी का कहना है कि सामाजिक और नैतिक मूल्यों को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है. हालाँकि ईसीबी ने यह भी साफ़ किया कि महिला पोलिंग बूथ पर पुरुष सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की जाएगी.

इमरान खान को चुनाव आयोग की चेतावनी

ईसीबी के इस फैसले पर पाकिस्तान की सभी बड़ी पार्टियों ने सवाल खड़े किए हैं. पाकिस्तान की तीनों प्रमुख पार्टियां, इमरान खान की पीटीआई, नवाज और शाहबाज शरीफ की पीएमएल-एन और बिलावल भुट्टो की पीपीपी ने इस पर आपत्ति जताई है. उनका कहना है कि चुनाव आयोग द्वारा उठाया गया यह कदम अनावश्यक है, इससे चुनाव में गड़बड़ होने के आसार बढ़ जाएंगे. इन पार्टियों का कहना है कि अगर चुनाव आयोग की मंशा महिला एजेंटों को बिठाने की थी, तो उन्हें पहले से इस बारे में दिशा निर्देश जारी करना चाहिए थे.

पाक चुनाव में शरीफ ने किये लच्छेदार वादे

उन्होंने कहा कि अगर उन्हें पहले से इस फैसले के बारे में अवगत करा दिया जाता तो वे अपनी महिला कार्यकर्ताओं को एजेंट बनने के लिए तैयार कर सकते थे, लेकिन जब कल मतदान होना है और आज ये फैसला आ रहा है, ये निश्चित तौर पर विवादों को जन्म देने वाला फैसला है. आपको बता दें कि कल मतदान होने के चलते पाकिस्तान में सोमवार की रात से ही चुनाव प्रचार ख़त्म हो गया है. 

खबरें और भी:-​

पाक का भविष्य आतंक के साये में, 1500 आतंकी मैदान में

पाकिस्तान चुनाव में छाए अमिताभ और माधुरी

पाक में चुनाव प्रचार ख़त्म, इमरान और नवाज़ में काटे की टक्कर

 

?