भारत-पाकिस्तान के बीच जारी तनाव ले सकता है खतरनाक रूप

इस्लामाबाद : भारत और पाकिस्तान के बीच जम्मू एवं कश्मीर सीमा पर बढ़ता तनाव दोनों देशों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। पाकिस्तान के एक दैनिक समाचारपत्र ने गुरुवार को यह चेतावनी दी। समाचारपत्र ने अपने संपादकीय में लिखा, "भारत-पाकिस्तान के बीच नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर जारी तनाव और लड़ाई खतरनाक रूप ले सकता है।" पाकिस्तान का कहना है कि भारत ने वर्ष 2003 में हुए संघर्षविराम समझौते का उल्लंघन जुलाई और अगस्त महीने में 70 बार किया। समाचारपत्र ने लिखा, "बीते कुछ समय में इस बात के कोई संकेत नहीं मिले हैं कि यह लड़ाई और तनाव आने वाले दिनों में कभी भी खत्म हो सकता है।"

दैनिक के मुताबिक पाकिस्तान रेंजर्स और भारत के सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) एक दूसरे पर सीमा पार से गोलीबारी करने का आरोप लगाते रहे हैं। समाचारपत्र ने कहा कि सीनेट के अध्यक्ष रजा रब्बानी ने विश्व के देशों से, विशेषकर मुस्लिम राष्ट्रों से आग्रह किया कि कश्मीर में जो कुछ भी हो रहा है, उसके खिलाफ जोरदार तरीके से आवाज उठाएं। प्रधानमंत्री नवाज शरीफ भी इस्लामाबाद दौरे पर आईं अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सुसेन राइस के समक्ष इस मुद्दे पर चिंता जता चुके हैं।

समाचारपत्र ने अपने संपादकीय में लिखा, "भारत-पाकिस्तान के बीच बिगड़ते हालातों से जाहिर तौर पर दोनों ही देशों का अहित चाहने वाले खुश हैं।" समाचार पत्र ने लिखा कि पाकिस्तान को लेकर भारत के कड़े रुख में कश्मीर मुद्दे का महत्वपूर्ण योगदान है। संपादकीय लेख के मुताबिक, "अब सवाल यह है कि इस समस्या को कैसे सुलझाया जाए, ताकि दोनों ही तरफ से स्थिति सामान्य हो सके।"

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -