भारत और अमेरिका पर पाक का निशाना, फिर कर रहा परमाणु तस्करी

भारत और अमेरिका पर पाक का निशाना, फिर कर रहा परमाणु तस्करी

इस्लामबाद; पाक के परमाणु तकनीक की चोरी और तस्करी काम नहीं हो रही है. वहीं जिसके लिए उसने बाकायदा एक अंतरराष्ट्रीय खरीद नेटवर्क बना दिया है, जो पाकिस्तानी मुखौटा कंपनी के नाम पर अमेरिका से संवेदनशील सामान की खरीद कर रहा है. वहीं अमेरिका में इस नेटवर्क के लिए काम करने वाले 5 लोगों को दोषी ठहराया गया है. जंहा यह भी कहा जा रहा है कि अमेरिकी जस्टिस विभाग के एक अधिकारी ने कहा है कि संवेदनशील सामान की चोरी अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा हितों के साथ ही भारत और क्षेत्रीय शक्ति संतुलन के लिए खतरा है.

पाकिस्‍तान का परमाणु कार्यक्रम चोरी और तस्‍करी पर निर्भर: सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गौरतलब है कि विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में बिना किसी महारत के ही पाकिस्तान चोरी और तस्करी के बल पर परमाणु हथियार और बैलिस्टिक मिसाइल हासिल कर लिए हैं. इन लोगों के दोषी ठहराए जाने से एक बार फिर साफ हो गया है कि पाकिस्तान अभी भी अपने परमाणु कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिए चोरी और तस्करी पर ही निर्भर है. दोषी ठहराए पांचों लोग करते थे मुखौटा कंपनी के लिए काम अमेरिकी जस्टिस विभाग ने बीते बुधवार यानी 15 जनवरी 2020 को जारी एक बयान में कहा है कि दोषी ठहराए गए पांचों लोग रावलपिंडी स्थित मुखौटा कंपनी 'बिजनेस व‌र्ल्ड' के लिए काम करते थे. लेकिन वास्तव में ये पाकिस्तान के एडवांस इंजीनियरिंग रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (एइआरओ) और पाकिस्तान एटॉमिक इनर्जी कमीशन (पीएईसी) के लिए अमेरिका से संवेदनशील सामान खरीदने और उसे निर्यात करने का नेटवर्क चलाते थे.

संवेदनशील अमेरिकी सामान की कर रहे थे तस्करी: वहीं इन 5 की पहचान पाकिस्तान के 41 वर्षीय मुहम्मद कामरान वली, कनाडा के 48 वर्षीय मुहम्मद असहान वली और 82 वर्षीय हाजी वली मुहम्मद शेख, हांगकांग के अशरफ खान मुहम्मद और ब्रिटेन के 52 वर्षीय अहमद वाहीद के रूप में हुई है. वहीं यह भी कहा गया है अमेरिका की संघीय अदालत ने इन्हें इंटरनेशनल इमरजेंसी इकोनोमिक पॉवर एक्टर और एक्पोर्ट कंट्रोल रिफॉर्म एक्ट के उल्लंघन की साजिश रचने का दोषी ठहराया है. राष्ट्रीय सुरक्षा विभाग के सहायक अटॉर्नी जनरल जॉन डेमर्स ने कहा कि ये पांचों उन इकाइयों के लिए संवेदनशील अमेरिकी सामान की तस्करी कर रहे थे, जो वर्षो से अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बनी हुई हैं.

ट्रम्प ने खामेनेई पर साधा निशाना, कहा- ईरान के नेता आतंकवाद का रास्‍ता...

इमरान ने भारत पर कसा तंज, लगाए कई आरोप

पाकिस्तान में आतंकरोधी अदालत ने सुनाया फरमान, हिंसा फैलाने वाले कट्टरपंथीयों की संपत्ति पर किया वार