आतंकवाद से हुआ पाकिस्तान को 5.7 करोड़ डॉलर का नुकसान

इस्लामाबाद: यूं तो पाकिस्तान सदियों से आतंक का समर्थक देश रहा है और वह कश्मीर मसले को लेकर छद्म रूप से आतंक का सहारा लेता रहा है। मगर अब आतंकवाद उसके लिए ही भस्मासुर बन रहा है। तालिबान समर्थित आतंकवाद पाकिस्तान में परेशानी का सबब बन गया है। मिली जानकारी के अनुसार आतंकवाद के कारण पाकिस्तान में कई लोगों के परिवार प्रभावित हुए। बम धमाकों से बेगुना लोगों की जान भी जा चुकी है। पाकिस्तान के वित्त मंत्री इशाक डार ने कहा कि देश को आतंकवाद से बीते 5 वर्ष में 5.7 करोड़ डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा।

यह जानकारी सामने आती रही है कि आर्थिक नुकसान पाकिस्तान को हो रहा है मगर इसके बाद भी पाकिस्तान ऐसे आतंकी समूहों को समर्थन दे रहा है जो कि भारत के खिलाफ अभियान चला रहे हैं। ये आतंकी संगठन अप्रत्यक्ष तौर पर आईएसआईएस जैसे आतंकी संगठन से मिले हैं।

ऐसे में पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद को समर्थन दे रहा है। जून वर्ष 2014 में पाकिस्तान ने जर्ब ए अज्ब नामक सैन्य अभियान के ही साथ आतंकियों के विरूद्ध बड़ा अभियान प्रारंभ कर दिया था। पाकिस्तानी सेना के अनुसार आक्रमण में 3 हजार से अधिक आतंकियों को मार दिया गया था

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -