भारत पाक विवाद के चलते अजमेर उर्स में शिरकत नहीं कर पाएंगे पाक जायरीन

अजमेर: भारत पाकिस्तान के बीच गहराते तनाव के चलते इस बार 500 से अधिक पाकिस्तानी जायरीन का जत्था अजमेर शरीफ उर्स में शामिल नहीं हो पाएगा. भारत में हुए आतंकी हमले और पाकिस्तानी बॉर्डर में आतंकियों के खात्मे के लिए भारतीय सेना की कार्रवाई पाक पीएम इमरान खान के लिए बड़ी समस्या बन गई है. यही कारण है कि दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है. 

वीडियोकॉन मामला: चंदा कोचर और वेणुगोपाल के घर-दफ्तर पर ईडी का छापा

इसी के चलते भारत से प्रति वर्ष प्यार मोहब्बत का संदेश पाने वाले पाक जायरीन इस बार अजमेर उर्स में शिरकत नहीं कर पाएंगे. उल्लेखनीय है कि विश्व प्रसिद्ध सूफी संत हजरत ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह में हर साल उर्स में 500 से अधिक पाकिस्तानी जायरीन का जत्था अजमेर आता है. इस बार दरगाह दीवान सैय्यद जैनुल आबेदीन अली ने इस जत्थे को अजमेर उर्स में नहीं आने की सलाह दी है.

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान में 177 पद खाली, इस पद के लिए करें आवेदन

भारत सरकार से भी इन्हें वीजा नहीं देने का आग्रह किया गया था. दरगाह से सम्बंधित लोगों का मानना है कि जब तक पाकिस्तान भारत के विरुद्ध आतंकी गतिविधियों को अंजाम देना बंद नहीं करता है, तब तक दोनों देशों में अच्छे रिश्ते कायम नहीं होंगे. ख्वाजा साहब के आगामी 807वें उर्स में शिरकत नहीं कर पाने के कारण पाकिस्तानी जायरीन अब अपने खुशहाल जीवन और दोनों मुल्क के दरमियान नफरत समाप्त होने की दुआ कर रहे हैं.

खबरें और भी:-

इन नए नियमों के तहत अब फ्लाइट कैंसल या लेट होने पर रिफंड होंगे पैसे

डॉलर के मुकाबले 1 पैसे की मजबूती के साथ 71.21 के स्तर पर खुला रुपया

पिछले दिनों गिरावट के बाद आज मजबूती के साथ खुले बाजार, फिलहाल ऐसी स्तिथि

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -