मुल्ला मंसूर की मौत पर अमेरिका-पाकिस्तान में तनातनी

मुल्ला मंसूर की मौत पर अमेरिका-पाकिस्तान में तनातनी

वाशिंगटन ​: एक ड्रोन हमले में अमेरिका द्वारा मारे गए आतंकी मुल्ला मंसूर की मौत के बाद से अमेरिका और पाकिस्तान के बीच वाकयुद्ध शुरु हो गया है। मंसूर के मारे जाने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने बयान में कहा कि अफगानिस्तान के शांति के प्रयासों के बीच में बाधा बन रहे मंसूर का खात्मा एक बड़ी उपलब्धि है।

इसी के ठीक बाद अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन कैरी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और सेना प्रमुख जनरल राहील शरीफ को अमेरिकी ड्रोन हमलों की जानकारी दी थी। ओबामा ने वियेतनाम जाते समय रास्ते से एक लिखित स्टेटमेंट में कहा है कि अमेरिका उन आतंकियों को लगातार निशाना बनाता रहेगा जो अमेरिका पर हमला कर रहे हैं और शांति प्रयासों में बाधा बन रहे हैं।

शरीफ ने ओबामा के बयान के जावब में कहा है कि अमेरिका पाकिस्तान की संप्रभुता को चुनौती दे रहा है। पाकिस्तान के विदेश विभाग ने एक बयान जारी कर कहा है कि अमेरिका ने हमले की सूचना दी थी कि सीमा क्षेत्र में मानव रहित ड्रोन से हमला किया गया है, जिसमें मंसूर को निशाना बनाया गया।

मंसूर व एक अन्य को अमेरिका ने तब निशाना बनाया जब वो दोनों पाकिस्तान-अफगानिस्तान के सीमा के पास स्थित बलूचिस्तान प्रांत के अहमद नगर इलाके में किसी वाहन में सवार होकर कहीं जा रहे थे।