सौंडर्स हत्याकांड : भगत सिंह को निर्दोष सिद्ध करने के लिए सुनवाई आज

Feb 03 2016 12:04 PM
सौंडर्स हत्याकांड : भगत सिंह को निर्दोष सिद्ध करने के लिए सुनवाई आज

लाहौर : शहीद-ए-आजम भगत सिंह को लेकर पाकिस्तान में याचिका दायर की गई थी। जिस पर सुनवाई के लिए पाकिस्तान का न्यायालय तैयार हो गया है। 17 दिसंबर 1928 के अंतर्गत हत्याकांड की सुनवाई लाहौर उच्च न्यायालय की जस्टिस खालिद महमूद खान की अध्यक्षता वाली पीठ द्वारा बुधवार से की जाएगी। ब्रिटिश सम्राज्य के खिलाफ खुला विद्रोह करने जॉन सॉन्डर्स हत्याकांड को लेकर 23 वर्ष की आयु में शहीद भगत सिंह को राजगुरू और सुखदेव के साथ 23 मार्च, 1931 को फांसी पर लटका दिया गया।

इस मामले में पाकिस्तान के न्यायालय में पाकिस्तान के ही भगत सिंह मेमोरियल फाउंडेशन के अध्यक्ष इम्तियाज़ रशीद कुरैशी ने लाहौर उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर दी है। इस मामले में मई 2013 में अंतिम बार सुनवाई की गई। जस्टिस सुजात अली खान ने मामले को बड़ी बेंच के हवाले कर दिया था। वर्ष 2014 में कुरैशी द्वारा पुलिस ने सांडर्स हत्याकांड की एफआईआर की प्रति भी हासिल की।

एफआईआर की इस प्रति में भगत सिंह का नाम नहीं था। बीते वर्ष नवंबर माह में कुरैशी ने याचिका दायर करते हुए शहीद ए आजम को बेगुनाह करार देने की अपील की। उनके द्वारा कहा गया कि अविभाजित भारत की स्वाधीनता हेतु संघर्ष करने वाले भगत सिंह को स्वयं पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना ने श्रद्धांजलि भी दी थी। यही नहीं पाकिस्तान में भी शहीद - ए आजम - भगत सिंह को बहुत सम्मान दिया जाता है।