'मर चुके' आतंकी को पाकिस्तान ने किया गिरफ्तार, मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड है साजिद मीर

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने 2008 के मुंबई आतंकी हमलों के मास्टरमाइंड साजिद मीर को अरेस्ट कर लिया है। लाहौर की एक आतंकवाद रोधी अदालत ने साजिद मीर को 15 साल जेल की सजा सुनाई है। आतंकवाद से जुड़े एक वरिष्ठ वकील ने बताया है कि इस महीने की शुरुआत में लाहौर में एक आतंकवाद रोधी अदालत ने प्रतिबंधित संगठन लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकी साजिद मीर को 15 वर्ष जेल की सजा सुनाई है। ये सजा उसे टेरर फंडिंग केस में सुनाई गई।

बता दें कि साजिद मीर का नाम FBI की मोस्ट वांटेड आतंकवादियों की लिस्ट में शामिल है। पाकिस्तान ने शुरू से ही साजिद मीर की मौजूदगी से इनकार किया है। पाकिस्तानी सरकार ने यहां तक दावा किया था कि मीर तो मर चुका है। लेकिन अब उसके गिरफ्तार होने के बाद कहा जा रहा है कि साजिद की हिरासत से पाकिस्तान आतंक को लेकर लगे दाग धोना चाहता है। अमेरिकी एजेंसी FBI ने साजिद मीर के ऊपर पांच मिलियन डॉलर का इनाम घोषित किया है। आतंकी मीर को अमेरिका और भारत दोनों ही लगभग एक दशक से खोज रहे हैं। साजिद मीर संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का सदस्य है। साजिद मीर ही मुंबई के 26/11 हमलों का मास्टरमाइंड भी है। इस हमले में लगभग 170 लोगों की जान गई थी। इनमें मुख्य रूप भारतीय, छह अमेरिकी और जापान सहित कई जगहों के पर्यटक भी शामिल थे। 

निक्केई एशिया की रिपोर्ट के मुताबिक, FBI के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया है कि साजिद मीर पाकिस्तान में जीवित है, हिरासत में है और उसे सजा सुनाई गई है। एक पूर्व पाकिस्तानी अधिकारी ने बताया है कि पाकिस्तान ने भारत और अमेरिका से कहा था कि मुंबई हमलों का आरोपी साजिद मीर या तो मर गया है या फिर उसके ठिकाने का पता नहीं चल पा रहा है। हालांकि पाकिस्तान ने अब भी  मीर की गिरफ्तारी को आधिकारिक रूप से नहीं बताया है। उप विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार ने निक्केई एशिया से कहा कि वह इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगी। 

भारत ने निभाया बड़ा होने का फ़र्ज़.. अफ़ग़ानिस्तान में भेजी आपातकालीन राहत सहायता

कंगाल पाकिस्तान में अब कागज़ भी नहीं बचा ! नहीं हो सकेगी पाठ्यपुस्तकों की छपाई

अफ़ग़ानिस्तान के इस शहर में आया भूकंप ,5 लोगो की मौत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -