पाक ने स्वीकारा कि कश्मीर में आतंवाद को दी पनाह

Feb 03 2016 09:55 AM
पाक ने स्वीकारा कि कश्मीर में आतंवाद को दी पनाह

इस्लामाबाद। आखिरकार पाकिस्तान ने यह स्वीकार कर ही लिया की कश्मीर में आतंकवाद को पनाह देने में उसी का हाथ है. आतंकवाद की जड़ कहे जाने वाले पडोसी मुल्क पाकिस्तान का रवैया अब बदल रहा है. पाकिस्तानी सांसदों की एक समिति ने नवाज शरीफ सरकार से सिफारिश की है कि वह कश्मीर के आतंकी संगठनों को बढ़ावा देना बंद करे और हमलों के लिए जिम्मेदार आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करे.

मंगलवार को पाकिस्तान की नेशनल असेंबली की विदेशी मामलों की स्थायी समिति ने कश्मीर पर 4 पेज का एक मसौदा बनाकर सरकार को सौंपा है. भारत के साथ पाकिस्तान के रिश्तो की बहाली करने के लिए इस प्रकार के मसौदे अहम माने जाते हैं. मसौदे के मुताबिक कश्मीर के हथियारबंद प्रतिबंधित संगठनों को समर्थन देना अब बंद किया जाना चाहिए.

उल्लेखनीय है कि यही प्रतिबंधित समूह भारत में आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए पाकिस्तानी सरजमीं का इस्तेमाल करते हैं और भारत उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग करता रहा है.सत्ताधारी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के सांसद अवैस अहमद लेघारी की अगुआई वाली समिति ने दुनिया में बनती इस सोच पर चिंता व्यक्त की है, कि कश्मीर में होने वाले आतंकी हमलों पर कार्रवाई के लिए पाकिस्तान कुछ नहीं करता. समिति ने सुझाव देते हुए कहा की पाकिस्तान भारत के साथ अपने सभी लंबित मुद्दो पर बातचीत जारी रखे. यह वार्ता कश्मीर, जल बंटवारे, व्यापार, संस्कृति और संचार सेवाओं पर होनी चाहिए.