Geeta Kapoor : अस्पताल की फर्श पर छोड़ गए बच्चे, वो रोती रही बिलखती रही और चली गई

हिंदी सिनेमा इंडस्ट्री की मशहूर और खूबसूरत एक्ट्रेस में शुमार गीता कपूर ने 26 मई को इस दुनिया को अलविदा कह दिया. गीता को फिल्म पाकीज़ा की अभिनेत्री के तौर पर जाना जाता है. इस फिल्म में गीता ने राजकुमार की दूसरी पत्नी का किरदार निभाया था. गीता का निधन शनिवार सुबह वृद्धाश्रम में हुआ था. गीता के निधन की जानकारी मशहूर प्रोड्यूसर अशोक पंडित ने दी थी. अशोक ने सोशल मीडिया पर गीता का एक वीडियो शेयर कर सभी को उनके निधन की जानकारी दी.

अशोक ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, वो गीता के पार्थिव शरीर के पास खड़े हैं. वो ही पार्थिव शरीर जिसे एक साल पहले उनके बच्चे एसआरवी अस्पताल में छोड़कर चले गए थे. गीता ने अपनी आखिरी सास वृद्धाश्रम में ली. गीता सिर्फ और सिर्फ अपने बच्चो का ही इंतजार करती रही जो उनकी ताकत को और ज्यादा कमजोर बनाता गया. सभी ने गीता का ध्यान रखने की बहुत कोशिश की लेकिन उन्हें सिर्फ अपने बच्चों के ही आने का इंतजार था.

आगे अशोक लिखते हैं कि, गीता के शव को दो दिन तक विले पार्ले स्थित कपूर हॉस्पिटल में रखा जाएगा. गीता के शव को इस उम्मीद से रख रहे हैं कि उनके बच्चे आखिरी समय में तो कम से कम एक बार जरूर आएँगे ही. अगर वो नहीं आए तो फिर उनका अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा. पिछले शनिवार ही सभी लोगों ने गीता को खुश करने के लिए एक ग्रैंड ब्रेकफास्ट का आयोजन भी किया था. उस समय गीता ठीक जरूर थी लेकिन वो फिर भी खुश नहीं थी क्योकि वो सिर्फ अपने बच्चों को देखना चाहती थी. लेकिन गीता की ये इच्छा कभी पूरी नहीं हो पाई.

आपको बता दें गीता कपूर को पिछले साल उनके बेटे अस्पताल की फर्श पर छोड़कर चले गए थे. सूत्रों की माने तो गीता के बेटे हर रोज ही उनकी पिटाई करते थे. इसके बाद वो गीता को अकेले छोड़ गए. गीता कपूर ने अपनी फ़िल्मी करियर में 100 से भी ज्यादा फिल्मे की हैं.

IPL 2018: आईपीएल के ऐसे तैयारी कर रही हैं कृति, वीडियो हुआ वायरल

सलमान खान को देखकर फैंस चिल्लाए : 'भाई इंदौर से हैं, इंदौर से'

इनके साहस को रितिक ने किया सलाम, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -