पाकिस्तान में नोट बंदी को लेकर विचार, नहीं हुआ निर्णय

Nov 16 2016 10:01 AM
पाकिस्तान में नोट बंदी को लेकर विचार, नहीं हुआ निर्णय

इस्लामाबाद : पाकिस्तान की ओर से आने वाले नकली नोट ने भारतीय मुद्रा को प्रभावित किया और भारत ने रातों रात 500 रूपए और 1000 रूपए के नोट बंद कर दिए। मगर अब पाकिस्तान में भी नोटबंदी की बातें की जा रही हैं। माना जा रहा है कि पाकिस्तान सरकार उसके देश में चलने वाले 5000 पाकिस्तानी मुद्रा वाले नोट को और 40000 मूल्य के प्राइज बांड का विमोद्रीकरण कर देगी।

मगर अब इस बात को सरकार नकारने में लगी है। इस मामले में पाकिस्तान के वित्तमेंत्री इशाक डार ने मीडिया रिपोर्टस को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि इस तरह के बांड और नोट को चलन से बाहर नहीं किया जा रहा है। पाकिस्तान के प्रमुख समाचारपत्रोें में इस बारे में जानकारी प्रकाशित की गई थी। हालांकि इस मामले मेें पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विशेष सहायक हारून अख्तर खान द्वारा पहले कहा गया कि सरकार बड़े नोटों और बांडों को बंद करने के बारे में सोच-विचार में लगी थी।

मगर डाॅन समाचार पत्र ने कहा कि अभी इस मामले में किसी तरह का विचार नहीं हुआ है। उस्मान द्वारा पाकिस्तान में बढ़ रहे भ्रष्टाचार को रोकने के लिए भारत में हुए प्रयासों का उदाहरण दिया और कहा कि जिस तरह से भारत में 1000 रूपए और 5000 रूपए के नोट बंद किए गए हैं उसी तरह से पाकिस्तान में भी नोट बंद किए जाऐं।