आएलन कुर्दी की इन तस्वीरों को देखकर नहीं रोक सकेंगे अपने आंसू

सीरिया में ISIS के आतंक से परेशान होकर अपने जीवन को बचाने के लिए भागे और समुंद्र में नोक के डूब जाने से बह कर मर गए शरणार्थिंयों में से जब दो मासूम बच्चों के शव बहा कर समुद्र के किनारे मिले तो उस तस्वीर ने दुनिया भर के लोगो में शोक पैदा कर दिया।

वह मासूम जिसने दुनिया में अभी अपने कदमो से चलना शुरू ही किया था जिसका नाम आएलन कुर्दी था चित्रकारों ने उसकी तस्वीर को किस तरह अपनी कल्पना का रूप दिया है।

आएलन कुर्दी अपनी जान तो नहीं बचा सका लेकिन इस मासूम की इस तस्वीर ने पूरी दुनिया के सामने एक कड़वा सच खोल कर रख दिया है कि हम आज भी मुसीबत के समय एक जुट होकर लड़ना और दूसरों की सहायता करना नहीं सीख पाए हैं।

आएलन कुर्दी के पिता ने अपने दोनों बच्चो को बचाने के लिए हर संभव प्रयास किये लेकिन अफसोस की मौत के सामने उन्होंने भी घुटने टेक दिए और वह अपने दोनों बेटे खो बैठे।

चित्रकारों की दिल को छू जाने वाली यह तस्वीरें, सब चित्रकारों ने इन्हे अगल अलग रूप देने की कोशिश की है।

अगर दोनों भाई उस दिन मौत को मत देकर बच गए होते तो शायद आएलन कुर्दी इसी तरह अपने मुलायम से बिस्तर पर मीठी सी नींद ले रहा होता।

तस्वीर की गहराई ही बताती है कि इस दुनिया में तो वह अपनी माँ की गॉड में नहीं सो पाया लेकिन ऊपर वाले की गोद में प्यार से रहेगा।

यह तस्वीर असलियत बाय करती है जो इस समय सबसे बड़ी चर्चा का विषय बना हुआ है।

UK के PM डेविड केमरून ने सीरिया शरणार्थियों को देश में आने से माना कर दिया इस वजह से अब उन्हें हर तरफ से आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। मासूम के शव को लें जाता सुरक्षाकर्मी।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -