देशभर में छाया शोक, नहीं रहे पद्म विभूषण से सम्मानित इतिहासकार-लेखक बाबासाहेब पुरंदरे

पुणे: हिन्दुस्तान के जाने-माने इतिहासकार और लेखक बाबासाहेब पुरंदरे का सोमवार प्रातः पुणे के दीनानाथ मंगेशकर मेमोरियल हॉस्पिटल में देहांत हो गया। वे 99 साल के थे। हॉस्पिटल प्रशासन के अनुसार, पुरंदरे को शनिवार यानि कि 13 नवंबर 2021 को हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था, जिसके उपरांत हालात गंभीर होने के बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रख दिया गया। इसके बाद से ही उनकी स्थिति में कोई भी सुधार देखने को नहीं मिला। 

बताया गया था कि बाबा पुरंदरे अपने घर में बाथरूम में अचानक गिर गए थे। जिसके उपरांत ही उन्हें हॉस्पिटल लाया गया था। उनके निधन की खबरों के उपरांत देशभर में उनके चाहने वालों ने शोक जताया है। 

कौन थे बाबा पुरंदरे?: बाबासाहेब पुरंदरे देश के लोकप्रिय इतिहासकार-लेखक रहने के साथ एक महान थिएटर कलाकार भी थे। उन्हें छत्रपति शिवाजी महाराज पर अपने विशेषज्ञता के लिए भी पहचाना जाता है। बाबा पुरंदरे ने शिवाजी के जीवन से लेकर उनके प्रशासन और उनके काल के किलों पर भी कई किताबें लिख चुके हैं। जिसके अतिरिक्त उन्होंने छत्रपति के जीवन और नेतृत्व शैली पर एक लोकप्रिय नाटक- जानता राजा का भी निर्देशन किया था। 

VIDEO: पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर उतारा गया फाइटर प्लेन

दर्दनाक: बारात का स्वागत करने के लिए खड़े थे लोग और हो गए मौत का शिकार

चंडीगढ़ के इस आलिशान होटल में सात फेरे लेंगे राजकुमार राव-पत्रलेखा, देंखे ये बेहतरीन तस्वीरें

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -