मोदी सरकार पर चिदंबरम का हमला, कहा- ना रोज़गार, ना आमदनी, कैसे जीवित रहेगा मजदुर

नई दिल्ली: कोरोना महामारी को लेकर बनाए गए पीएम केअर्स फंड से एक हजार करोड़ रुपये की राशि प्रवासी मजदूरों पर खर्च की जाएगी. मोदी सरकार के इस फैसले पर कांग्रेस की तल्ख़ प्रतिक्रिया सामने आई है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम ने कहा कि कृपया सामान्य गलती न करें. यह पैसा सीधे श्रमिकों के हाथों में नहीं जाएगा, बल्कि राज्यों को जाएगा.

चिदंबरम ने गुरुवार को किए ट्वीट करते हुए लिखा कि, 'PM-CARES ने प्रवासी मजदूरों के लिए 1000 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं. कृपया सामान्य गलती न करें. यह पैसा प्रवासी मजदूरों को नहीं दिया जाएगा, बल्कि प्रवासी श्रमिकों की यात्रा, आवास, चिकित्सा और भोजन के खर्चों की पूर्ति करने के लिए राज्य सरकारों को दिया जाएगा.'  कांग्रेस नेता चिदंबरम ने कहा कि, 'प्रवासी मजदूरों के हाथों में कुछ नहीं जाएगा.'

उन्होंने कहा कि, मजदुर, जो तमाम बाधाओं को पार कर अपने गांव लौट आया है. गांव में रोज़गार नहीं हैं. उसके पास कोई काम नहीं है और न ही कोई आय का साधन है. वह कैसे जीवित रहेगा और कैसे अपने परिवार को चलाएगा.' आपको बता दें कि कोरोना से जंग के लिए पीएम केयर्स फंड से 3100 करोड़ स्वीकृत किए गए हैं. 3100 करोड़ में से 2000 करोड़ रुपये वेंटिलेटर खरीदने के लिए उपयोग किए जाएंगे. 1000 करोड़ रुपये का उपयोग प्रवासी मजदूरों की देखरेख के लिए किया जाएगा और 100 करोड़ रुपये दवा के लिए रिसर्च पर खर्च किए जाएंगे.

उद्यमियों तथा व्यापारियों को सीएम योगी ने बांटे चेक

इस वीडियों नेटवर्क पर नवजोत सिंह सिद्धू ने बनाया अकाउंट

आखिर क्यों बहुत दुखी है सीएम योगी ?

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -