पी चिदंबरम का केंद्र पर प्रहार, कहा- राहत पैकेज पर पुनर्विचार करे सरकार

नई दिल्ली: केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा घोषित किए गए 20 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज पर कांग्रेस के दिग्गज नेता पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने काफी निराशा जाहिर की है. उन्होंने कहा कि हम आर्थिक पैकेज पर अपनी निराशा व्यक्त करते हैं प्रोत्साहन पैकेज पर सरकार से पुनर्विचार करने के लिए आग्रह करते हैं.

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने यह दावा भी किया कि सरकार की तरफ से घोषित पैकेज में केवल 1,86,650 करोड़ रुपये की वित्तीय प्रोत्साहन राशि है जो भारत की जीडीपी का महज 0.91 फीसदी है. उन्होंने वीडियो लिंक के माध्यम से प्रेस वालों से बात करते हुए कहा कि, हमने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की तरफ से घोषित पैकेज का गहन विश्लेषण किया. हमने अर्थशास्त्रियों से बात की. हमारा यह मानना है कि इसमें केवल 1,86,650 करोड़ रुपये का वित्तीय प्रोत्साहन पैकेज है.'

चिदंबरम के अनुसार, आर्थिक पैकेज की कई घोषणाएं बजट का हिस्सा हैं, कई ऐलान कर्ज देने की व्यवस्था का हिस्सा है. उन्होंने सरकार की तरफ से घोषित 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज में गरीबों, किसानों, मजदूरों की अनदेखी किए जाने का इल्जाम लगाते हुए सोमवार को कहा कि सरकार को इस पर पुनर्विचार करना चाहिए 10 लाख करोड़ रुपये के व्यापक वित्तीय प्रोत्साहन पैकेज का ऐलान किया जाना चाहिए.

गंगोत्री नेशनल पार्क में बढ़ा दुर्लभ वन्य जीवों का कुनबा

20 लाख करोड़ का राहत पैकेज घोषित करने से पहले सरकार ने किया था यह काम

वित्त मंत्री ने भारतीय कंपनियों के लिए नियम में किया बड़ा बदलाव

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -