वेलिंगकर को बर्खास्त करने के विरोध में RSS में बगावत

Sep 01 2016 03:05 PM
वेलिंगकर को बर्खास्त करने के विरोध में RSS में बगावत

पणजी : राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की गोवा इकाई के कार्यकर्ताओं ने गोवा प्रमुख सुभाष वेलिंगकर की बर्खास्तगी का विरोध किया। आरएसएस के 400 पदाधिकारियों और सदस्यों ने वेलिंगकर के समर्थन में इस्तीफा दे दिया है। इस मामले में आरएसएस की गोवा इकाई के शीर्ष नेताओं ने चर्चा की और उन्होंने मांग की कि सुभाष वेलिंगकर को न हटाया जाए। यदि सुभाष वेलिंगकर को हटाया जाता है तो वे सभी इस्तीफा दे देंगे। इस मामले में करीब 400 आरएसएस कार्यकर्ताओं ने इस्तीफा देने की घोषणा भी की।

आरएसएस के नेताओं में जिला इकाईयों, जिला उप इकाईयों और विभिन्न शाखाओं के पदाधिकारियों व सैकड़ों अन्य कार्यकर्ताओं द्वारा इस्तीफा देने का निर्णय भी किया और कहा कि वेलिंकर को फिर से पदस्थ किया जाए। गौरतलब है कि वेलिंगकर भाषा सुरक्षा मंच के प्रमुख हैं। उनका भाजपा से इस बात पर भी विवाद  था कि राज्य में कोंकणी व मराठी से अधिक तरजीह अंग्रेजी को स्कूलों में दी जा रही है।

साथ ही उन्होंने भाजपा की हार की ओर संकेत किया था। राज्य इकाई के नेता द्वारा कहा गया कि जिला इकाईयों, जिला उप इकाईयों और शाखाओं के पदाधिकारियों और सैकड़ों अन्य द्वारा इस्तीफा देने को लेकर निर्णय किया गया है। सुभाष वेलिंगकर द्वारा भारतीय भाषा सुरक्षा मंच नाम के संगठन के प्रमुख हैं। वे राज्य की भाजपा सरकार की आलोचना करते थे। दरअसल उनका आरोप है कि सरकार कोंकणी व मराठी आदि क्षेत्रीय भाषाओं के स्थान पर अंग्रेजी को महत्व दे रहे हैं।

गौरतलब है कि वेलिंगकर ने भाजपा संगठन के सामने स्थिति स्पष्ट कर दी थी कि राज्य में भाजपा चुनाव हार सकती है इसके बाद उन्होंने अपनी पार्टी का गठन करने की चेतावनी भी दी थी। जब अमित शाह गोवा आए तो इन लोगों ने उन्हें काले झंडे दिखाए थे। इसके बाद अभा प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने वेलिंगकर को दायित्वों से मुक्त कर दिया था। हालांकि मुख्यमंत्री पार्सेकर ने इस मसले को आरएसएस का अपना मसला बताया।

शाह का विरोध करना महंगा पड़ा, वेलिंगकर हुये जिम्मेदार विहीन

संघ मुख्यालय पहुचे दस हजार खाकी फुलपैंट, आरएसएस में लेंगे हाफपैंट की जगह