इतिहास में पहली बार पोस्टपोन हुआ ऑस्कर अवॉर्ड, लॉकडाउन के वजह से रिलीज नहीं हुई फिल्में

1929 से शुरू हुई ऑस्कर अवॉर्ड सेरेमनी पहली बार पोस्टपोन हो गई है. कोरोना वायरस संक्रमण के वजह से पूरी दुनिया में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है. किसी भी फिल्म इंडस्ट्रीज में फिल्में रिलीज नहीं हो पा रही हैं. नॉमिनेशन के लिए भी पर्याप्त एंट्री न होने के चलते  28 फरवरी 2021 को होने वाला समारोह अब मई-जून 2021 तक बढ़ा दिया गया है. ऑस्कर के लिए एंट्रीज भेजने की प्रक्रिया हर साल मार्च अप्रैल के बाद शुरू हो जाती है. और नवम्बर दिसंबर तक नॉमिनेशन को शॉर्ट लिस्ट किया जाता है और जूरी के सदस्य जनवरी में वोटिंग करते हैं. लॉकडाउन के वजह से बॉण्ड सीरीज की नो टाइम टू डाई, टॉप गन मेवरिक, मुलन और ब्लैक विडो जैसी फिल्मों ने अपनी रिलीज डेट आगे बढ़ा दी है.  

वहीं, रिपोर्ट्स के अनुसार पिछले महीने अकेडमी ने शेड्यूल के बारे में अपडेट करते हुए बताया था कि इस साल रिलीज हो चुकी फिल्में 2022 तक के लिए नॉमिनेशन दे सकती हैं. ऐसा इसलिए भी किया गया था ताकि मेकर्स फिल्मों को इस साल के आखिर तक या अगले साल रिलीज कर पाए और उन्हें यह विश्वास बना रहे कि उनकी फिल्में ऑस्कर में भेजे जाने के काबिल हैं.

बता दें की ऑस्कर ने कोरोनो वायरस महामारी के मद्देनजर अपने पात्रता नियमों को बदल दिया. यह बदलाव स्थायी नहीं है और ये सभी इस साल रिलीज़ होने वाली फिल्मों पर लागू होंगे. एकडेमी ने यह भी बताया था कि श्रेणियों की कुल संख्या को घटाकर 23 किया जाएगा.

कॉर्टनी कॉक्स ने शेयर की अपनी गर्भावस्था से जुड़ी दिलचप्स बातें

मार्क रफेलो को हल्क का किरदार निभाने के लिए इस शख्स ने मनाया था

65 साल की उम्र में डीसी कॉमिक्स के लेखक मार्टिन पास्को ने ली अंतिम सांस

 

Most Popular

- Sponsored Advert -