रेल बजट : जानिए बजट पर क्या है पूर्व रेल मंत्रियों की राय

रेल बजट : जानिए बजट पर क्या है पूर्व रेल मंत्रियों की राय

नई दिल्ली : रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने बजट पेश किया और सबकी उम्मीदों से परे न तो रेल किराया बढ़ाया औऱ न ही मालगाड़ी के भाड़े में कोई वृद्धि की। एक ओर से रेल बजट सदन में पारित हुआ तो दूसरी ओर से उस पर राजनीतिक पार्टियां अपने विचार भी देने लगी। विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि रेल बजट बहुत ही हल्का है। उन्होने कहा कि रेलवे के पास पैसा नही है। नई ट्रेनों के बारे में उन्होने कहा कि पहले के ट्रेनों को ही नए नाम के साथ पेश किया गया है। कुछ भी नया निवेश नहीं है। पारदर्शिता बिल्कुल भी नहीं रखी गई है, ताकि बाद में गड़बड़ी की जा सके।

पुर्व रेल मंत्री पवन बंसल ने कहा कि बायो वैक्यूम टॉयलेट के इस्तेमाल के अलावा इस रेल बजट में कुछ भी नया नहीं है। बंसल ने कहा कि लोकोमोटिव कारखानों का ऐलान उन्होंने तभी कर दिया था जब वो रेलवे मंत्री थे। पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने कहा कि ये बेहद हल्का रेल बजट है, इसमें कुछ भी नया नहीं है।

लालू ने कहा कि रेलवे ही देश की लाइफ लाइन है और बीजेपी के सत्ता में आने के बाद ये पटरी से उतर गई है। लालू ने यह भी कहा कि देश को बुलेट ट्रेन नहीं चाहिए, इस पर विदेशियों की निगाहें है। पूर्व रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने भी रेल बजट की आलोचना करते हुए कहा कि बजट कहां आया? उन्होंने कहा कि बजट में आने वाले लक्ष्य की घोषणा होती है। लेकिन इस रेल बजट में भ्रम का ऐलान है।