निवेशकों और उद्योग के हितधारकों के लिए भारत में काफी अवसर: सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने हाल ही में कहा है कि, 'वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला को नए सिरे से तैयार किया जा रहा है जिससे भारत में सभी निवेशकों तथा उद्योग के हितधारकों के लिए काफी अवसर हैं।' जी दरअसल बीते शनिवार को सीतारमण ने उद्योग मंडल फिक्की तथा अमेरिका-भारत रणनीतिक मंच द्वारा आयोजित गोलमेज में वैश्विक उद्योग जगत के दिग्गजों तथा निवेशकों से कहा, ''वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला के पुन:नियोजन तथा भारत के स्पष्ट रुख अपनाने वाले नेतृत्व की वजह से सभी निवेशकों तथा उद्योग के हितधारकों के लिए हमारे देश में काफी अवसर हैं।''

आप सभी को बता दें कि सीतारमण वाशिंगटन डीसी की अपनी यात्रा के बाद बीते शुक्रवार की देर रात यहां पहुंचीं। वहीं वाशिंगटन डीसी में उन्होंने विश्व बैंक और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की वार्षिक बैठकों में भाग लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि, 'भारत में स्टार्टअप कंपनियां काफी तेजी से बढ़ी हैं और अब इनमें से कई पूंजी बाजार से धन जुटा रही हैं। इस साल ही करीब 16 स्टार्टअप यूनिकॉर्न क्लब में शामिल हुई हैं। यूनिकॉर्न से आशय एक अरब डॉलर से अधिक के मूल्यांकन से है।'

आगे वित्त मंत्री ने यह भी कहा, 'भारत ने चुनौतीपूर्ण समय में भी डिजिटलीकरण का पूरा लाभ उठाया है।' वहीं दूसरी तरफ वित्त मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा, 'वित्तीय क्षेत्र में प्रौद्योगिकी की वजह से वित्तीय समावेशन को बढ़ावा मिल रहा है। वित्तीय प्रौद्योगिकी कंपनियां इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं।' आप सभी को बता दें कि बीते शनिवार को सीतारमण ने यहां मास्टरकार्ड के कार्यकारी चेयरमैन अजय बंगा और मास्टरकार्ड के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) माइकल मीबैक, फेडेक्स कॉरपोरेशन के अध्यक्ष और मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) राज सुब्रमण्यम, सिटी की सीईओ जेन फ्रेजर और आईबीएम के चेयरमैन एवं सीईओ अरविंद कृष्णा, प्रूडेंशियल फाइनेंस इंक के अंतरराष्ट्रीय कारोबार प्रमुख स्कॉट स्लीस्टर और लेगाटम के मुख्य निवेश अधिकारी फिलिप वासिलियो से भी मुलाकात की।

क्राइम ब्रांच की टीम ने नेशनल हाईवे से बरामद किया 350 किलो गांजा

कोरोना महामारी के समय में देशवासियों के लिए संकटमोचक बना रेलवे, जानिए कैसे?

केरल में मौत बनकर बरसे बदरा, बढ़ता जा रहा है मौत का आँकड़ा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -