राज्यसभा में वर्ष के अंत में खाली होंगी कई सीटें, कांग्रेस बन सकती है कमजोर कड़ी

By Emmanual Massey
Feb 17 2020 09:26 AM
राज्यसभा में वर्ष के अंत में खाली होंगी कई सीटें, कांग्रेस बन सकती है कमजोर कड़ी

नई दिल्ली: इस वर्ष सत्तारूढ़ राजग को राज्यसभा में बहुमत मिलने कि संभावना जताई है. वहीं लेकिन विपक्ष और कमजोर होने वाला है. जंहा कांग्रेस इस वर्ष के अंत तक खाली होने वाली 68 सीटों में कई गवां देगी. वहीं कांग्रेस उच्च सदन में अपनी 19 सीटों में से करीब 9 सीटें भी खोने की आशंका है. चूंकि कुछ राज्यों की विधानसभाओं में उसकी सीटें काफी कम हुई हैं. लिहाजा वह प्रियंका गांधी वाड्रा समेत अपनी पार्टी के कुछ दिग्गजों को राज्यसभा में ला सकती है.

वहीं इस बात पर भी गौर किया है कि दूसरी ओर, सत्तारूढ़ भाजपा राज्यसभा में बड़ी बढ़त लेने को तैयार है. फिलहाल उच्च सदन में राजग के पास बहुमत नहीं है. और बिल पारित कराने के लिए उसे अपने मित्र दलों जैसे अन्नाद्रमुक और बीजद का सहयोग लेना पड़ता है. जानकारी के अनुसार 245 सदस्यीय राज्यसभा में भाजपा के अधिकतम सदस्य 82 और कांग्रेस के 46 हैं. सदन में 12 नामित सदस्य भी हैं, जिनमें आठ भाजपा के समर्थन में हैं. जंहा यह भी कहा जा रहा है कि बीजेपी के खाते में जाने वाली नवंबर में एक राज्यसभा सीट उत्तराखंड में और दस उत्तर प्रदेश से खाली हो रही हैं. जबकि महाराष्ट्र में छह सीटें खाली हो रही हैं. इसमें राकांपा सुप्रीमो शरद पवार की सीट भी शामिल है. तमिलनाडु में छह सीटें खाली हो रही हैं. पश्चिम बंगाल और बिहार में पांच-पांच सीटें खाली हो रही हैं. जबकि गुजरात, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में चार-चार सीटें खाली हो रही हैं. 

एक-दो सीटें कांग्रेस को सहयोगी दलों से मिलेंगी: सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस को इस बात का पूरा भरोसा है कि वह करीब नौ सीटें तो अपने ही दम पर जीत लेगी जबकि एक या दो और सीटें उसे सहयोगी विपक्षी दलों के खाते से मिल जाएंगी. यदीन हम बात करें सूत्रों कि तो पता चला है कि पार्टी में चर्चा है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, ज्योतिरादित्य सिंधिया और रणदीप सुरजेवाला को राज्यसभा में बतौर सदस्य शामिल किया जाने वाला है.

सफल हुआ एक्सपेरिमेंट, जल्द आएगा कोरोना वायरस का एंटीडोट

राष्ट्र महासचिव गुतेरस का बड़ा बयान, कहा- 'भारत और पाक के लिए आपस में तनाव करना...'

राष्ट्रपति अशरफ गनी ने पाक को बनाया निशाना, कहा- 'आतंकवाद के विरुद्ध नहीं उठा...'