दिल्ली में एसीबी कार्यालय पहुंचा प्याज घोटाले का मामला

By Sandeep Meena
Sep 22 2015 04:42 AM
दिल्ली में एसीबी कार्यालय पहुंचा प्याज घोटाले का मामला

नई दिल्ली : दिल्ली सरकार का प्याज खरीद में धांधली का मामला भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) के दफ्तर तक पहुंच चूका है। एक आरटीआई के द्वारा इस मामले का खुलासा करने वाले कार्यकर्ता विवेक गर्ग ने एसीबी में अपनी शिकायत दर्ज कराते हुए प्याज खरीद के दिल्ली सरकार के दावे की जांच की मांग की है। गर्ग ने आरोप लगाया है कि केजरीवाल सरकार तथ्यों को छिपा रही है।

उनका कहना है कि सरकार ने जब मई में प्याज खरीदने का निर्णय लिया तो इसके लिए निविदा जारी क्यों नहीं की गई। उन्होंने कहा कि स्माल फार्मर एग्री कारोबार समूह(एसएफएसी) से ऊँचे दाम में प्याज क्यों खरीदा गया जबकि नेफेड भी सरकार को सस्ता प्याज देने के लिए तैयार था। उन्होंने कहा कि प्याज खरीद में जो कथित घोटाला दिखाई दे रहा है उसकी जांच जरूरी है। उन्होंने कहा आम आदमी पार्टी ने पहले 5 हजार टन प्याज खरीदने का आर्डर दिया लेकिन फिर उसे घटाकर लगभग आधा कर दिया गया। प्याज की कीमत आसमान में पहुंचने के बावजूद इस मात्रा में से भी 2 सितंबर तक केवल 575 टन प्याज बाजार में लाया गया। इससे जमाखोरों को हर स्तर पर मौका मिला।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में प्रतिदिन एक हजार से 1500 टन प्याज की जरूरत है। मुख्यमंत्री केजरीवाल को इसकी जांच क्यों नहीं करानी चाहिए। वही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस ने प्याज खरीद के इस कथित घोटाले को लेकर आवाज उठाई है। बता दे की लोगो से भ्रष्टाचार ख़त्म करने का दावा करके केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की सत्ता हांसिल की थी, अब देखना यह है की क्या ऐसे में केजरीवाल प्याज खोटाले की जाँच का आदेश देंगे।