अमेरिका और तालिबान के बीच हुआ सीजफायर समझौता, एक हफ्ते तक हमला नहीं करेगा आतंकी संगठन

काबुल: अफगान सरकार शांति वार्ता करने वाली टीम के प्रतिनिधियों की फेहरिस्त का खुलासा तब करेगी, जब अमेरिका (US) और तालिबान (Taliban) अपने शांति समझौते को आखिरी रूप दे देंगे। प्रेसिडेंशियल पैलेस ने इन कयासों के बीच जानकारी देते हुए कहा है कि आतंकवादी संगठन थोड़े समय की अवधि के लिए सीजफायर पर सहमत हो गया है। 

टोलो न्यूज के अनुसार, प्रतिनिधिमंडल अफगानिस्तान की सरकार का प्रतिनिधित्व करेगा और इसे अंतर-अफगान वार्ता आरंभ होने के साथ पेश किया जाएगा। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी के उप प्रवक्ता दुरानी जावेद वजीरी ने बताया है कि, "जब वे (तालिबान) अमेरिका के साथ एक अंतिम निष्कर्ष पर पहुंच जाएंगे और अफगान लोगों के साथ वार्ता करने की भावना दर्शाएंगे तो हम अपनी शांति वार्ता टीम को पेश करने और पहुँचाने के लिए तैयार हैं।" 

इस बीच, तालिबान के एक पूर्व सदस्य जलालुद्दीन शिनवारी ने जानकारी देते हुए कहा है कि आतंकी संगठन अमेरिका के साथ एक हफ्ते के संघर्षविराम पर इस शर्त पर सहमत हुआ है कि दोनों पक्षों के बीच एक समझौते पर दस्तखत किए गए हैं। संघर्षविराम संबंधी मामले में प्रगति पर तालिबान द्वारा आधिकारिक ऐलान करना अभी बाकी है। आपको बता दें कि आतंकी संगठन तालिबान ने अफ़ग़ानिस्तान में तबाही मचा रखी है, वहीं अमेरिका और अफ़ग़ान दोनों देशों की सेनाएं उससे मुकाबला कर रही हैं।

'DAWN के सीईओ ने किया था मेरा रेप', पढ़िए एक पुरुष की MeToo स्टोरी

ऑस्ट्रेलिया की राजधानी में न्यू ईयर पर नहीं होगी आतिशबाजी, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे आप

आतंकियों पर 'काल' बनकर टूटी ये सेना, महज 24 घंटे में मार गिराए 60 आतंकवादी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -