1 को बैल ने सींगों से चीर डाला, 80 हुए घायल..., जल्लिकट्टु खेल के दूसरे दिन फिर जुट गए सैकड़ों लोग

चेन्नई: पूरे देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते कहर के बीच शनिवार सुबह तमिलनाडु के मदुरै (Madurai) स्थित पलामेडु क्षेत्र में जल्लीकट्टू प्रतियोगिता शुरू हो चुकी है. बैलों को नियंत्रित करने वाले इस खेल ‘जल्लीकट्टू’ (Jallikattu) का आज दूसरा दिन है. मदुरै में इस खेल में भाग लेने वाले लोगों की दूसरे दिन भी भारी भीड़ जुटी है. शुक्रवार को पोंगल (Pongal) के दिन बैल को नियंत्रित करने के इस जोखिमभरे खेल में प्रतिस्पर्धियों और बैल मालिकों सहित लगभग 80 लोग जख्मी हो गए.

जानकारी के अनुसार, अवनियापुरम क्षेत्र में जल्लीकट्टू प्रतियोगिता के दौरान भड़के एक बैल ने शुक्रवार को 18 वर्षीय एक दर्शक को सींग से चीर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई. जबकि इस खेल के दौरान, प्रतिस्पर्धियों और बैल मालिकों सहित लगभग 80 लोग घायल हो गए. एक स्वास्थ्य अधिकारी के अनुसार, घायल हुए कुल 80 लोगों में 38 प्रतिस्पर्धी, 24 बैलों के मालिक और 18 दर्शक शामिल हैं. बता दें कि मदुरै जिले के अवनियापुरम गांव में तालियों की गड़गड़ाहट और जयकारों के बीच, शुक्रवार को 300 बैलों को अखाड़े के अंदर छोड़ दिया गया.

बता दें कि तमिलनाडु सरकार ने 300 बैलों और 150 दर्शकों के साथ जल्लीकट्टू प्रतियोगिता का आयोजन करने की मंजूरी दी थी. हालांकि, शुक्रवार को इन कार्यक्रमों को देखने के लिए सैकड़ों की तादाद में ग्राम वासी अवनियापुरम में छतों और बैरिकेड्स के बाहर इकठ्ठा हो गए. सरकार ने आदेश में बताया था कि बैलों के मालिक और उनके सहायक जो अपने मवेशियों को खेल के लिए पंजीकृत कराएंगे, उन्हें और प्रशिक्षकों को पूर्ण टीकाकरण सर्टिफिकेट के साथ-साथ कार्यक्रम से अधिकतम 48 घंटे पहले कराई गई RT-PCR जांच की निगेटिव रिर्पोट दिखाना अनिवार्य होगा.

यूपी चुनाव में पीएम मोदी ने खुद संभाला मोर्चा, टिकट बंटवारे पर बैठक में हुए शामिल

यूपी चुनाव: क्या अयोध्या में 'मोदी की काशी' जैसा करिश्मा कर पाएंगे योगी आदित्यनाथ ?

फर्म में निवेशकों को गुमराह करने के आरोप में इस कंपनी के संस्थापक को 26 सितंबर को होगी जेल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -