विरोध के बाद भी मैदान में कूदा चीन, रेलवे के प्रोजेक्ट में लगाई बोली

Jul 11 2020 03:59 PM
विरोध के बाद भी मैदान में कूदा चीन, रेलवे के प्रोजेक्ट में लगाई बोली

भारतीय रेलवे की महत्वाकांक्षी सेमी तेज गति स्वदेशी ट्रेन-18 प्रोजेक्ट की वैश्विक निविदा में चीन की गवर्नमेंट कंपनी सीआरआरसी कॉरपोरेशन एकमात्र विदेशी कंपनी के रूप में प्रत्यक्ष सामने आई है. अधिकारियों ने ये ​जानकारी उपलब्ध कराई है.

खेलते-खेलते अचानक नाले में जा गिरी 6 वर्षीय मासूम, खोजते-खोजते थक गए बचावकर्मी

विदित हो कि 44 वंदे भारत एक्सप्रेस या ट्रेन-18 के लिए प्रोपल्शन सिस्टम्स या इलेक्ट्रिक  ट्रैक्शन किट की क्रय के लिए छह बोली लगाने वालों में सीआरआसी इलेक्ट्रिक (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड भी शामिल है. जो गुरुग्राम​ में मौजूद कंपनी के साथ चीनी कंपनी सीआरआरसी कॉरपोरेशन का साझा प्रोडक्ट है। अन्य बोली लगाने वालों में देश की हैवी इलेक्ट्रि‍कल्स, हैदराबाद स्थित मेधा ग्रुप, इलेक्ट्रोवेव्स इलेक्ट्रॉनिक प्राइवेट लिमिटेड और मुंबई स्थित पावरनेटिक्स इक्विपमेंट प्राइवेट लिमिटेड का नाम सम्मिलित है. साथ ही, अधिकारियों ने कहा कि बीते वर्ष प्रारंभ हुई पहली ट्रेन-18 पर 100 करोड़ रुपये की लागत आई थी जिसमें से 35 करोड़ रुपये केवल प्रोपल्शन सिस्टम पर व्यय किए गए थे। 44 ऐसी किटों के लिए मौजूदा टेंडर्स 1,500 करोड़ रुपयों से अधिक के होंगे.

अखिलेश यादव की बेटी अदिति ने रोशन किया माता-पिता का नाम, 12वीं बोर्ड में हासिल किए इतने अंक

विदित हो कि रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने बताया कि, 'ट्रेन सेट के लिए हमें 6 कंपनियों से बोलियां प्राप्त हुई हैं.' वर्तमान टेंडर्स बीते साल 22 दिसंबर को चेन्नई स्थित इंटीग्रल कोच ​कारखाने ने जारी की थी. इन रेलगाड़ीयों के लिए ये तीसरा ऐसा टेंडर्स है. पहला टेंडर्स 43 ट्रेन सेट्स के लिए था. किन्तु ऑर्डर केवल तीन के लिए दिया गया जिनमें स्पेनिश कंपनी सीएएफ और मेधा दल को सम्मिलित ​किया गया था. मेधा दल ने ही पहली रेल के लिए आपूर्ति की थी. दूसरे टेंडर्स 37 ट्रेन-18 प्रोपल्शन सिस्टम्स के लिए जारी किया गया था.  किन्तु उसे निरस्त किया गया था. 

इस कारण आज दुनिया के सबसे ताकतवर नेता हैं पीएम मोदी, जानिए सफलता का राज

दिल्ली सरकार ने किया ऐलान, यूनिवर्सिटी की होने वाली सभी परीक्षाएं रद्द

राजस्थान में दो बड़े भाजपा नेता गिरफ्तार, गहलोत सरकार को गिराने की साजिश करने का आरोप