MP: प्रदर्शन के दौरान डेढ़ साल के बच्चे की मौत, 3 पुलिसकर्मी घायल

शिवपुरी: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के शिवपुरी जिले (Shivpuri) के करैरा थाने के अंदर आने वाले गांव रामनगर गधाई में बीते मंगलवार को निर्माणाधीन सड़क पर बन रही पुलिया पर पाईप डालने के विरोध में ग्रामीणों द्वारा किये गये प्रदर्शन के दौरान डेढ़ साल के बच्चे की मौत हो गई। इसी के साथ इस दौरान तीन पुलिसकर्मी घायल हो गये। अब इस मामले में ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि 'बच्चे की मौत पुलिस के लाठीचार्ज में हुई है।' वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने इस आरोप को गलत बताया है।

उनका कहना है कि, 'पुलिस ने लाठीचार्ज नहीं किया है।' इस पूरे मामले के बारे में करैरा पुलिस थाना प्रभारी अमित सिंह भदौरिया ने जानकारी देते हुए कहा, 'करैरा के ग्राम गधाई में एक सड़क का निर्माण चल रहा है। इसी वजह से बीते मगंलवार को ग्रामीणों और सड़क निर्माण कर रही कंपनी में एक पुलिया पर पाईप लाईन को लेकर विवाद हो गया। इस बात को लेकर निर्माण कंपनी के ठेकेदार ने एसडीएम को आवेदन दिया था।' आगे थाना प्रभारी अमित सिंह भदौरिया ने बताया, 'इसके बाद मौके पर पुलिस बल भेजा गया तो वहां कुछ ग्रामीणों ने पुलिस पर ही पथराव शुरु कर दिया, जिससे पुलिस उपनिरीक्षक राघवेन्द्र यादव और दो अन्य पुलिसकर्मी घायल हो गए।'

आगे उन्होंने यह भी कहा कि, ‘लाठीचार्ज जैसा कोई कदम नहीं उठाया गया। बच्चे की मौत पुलिस की लाठी लगने से होने संबंधी आरोप पूरी तरह गलत है।’ इस मामले के बारे में जानकारी मिलते ही करैरा के कांग्रेस विधायक प्रागीलाल जाटव ने कहा, ;'मैंने गांव वालों से बात की है। गांव के लोग निर्माणाधीन सड़क पर बन रही पुलिया पर पाईप डालने का विरोध कर रहे थे, जिसे लेकर तहसीलदार को ज्ञापन भी दिया गया था।' आगे उन्होंने कहा कि ग्रामीणों के अनुसार मासूम की पुलिस की लाठी से मौत हुई है। जाटव और ग्रामीणों ने शव को सड़क पर रखकर चक्काजाम भी किया है।

इंदौर: 13 साल छोटे प्रेमी के साथ भागी महिला लौटी घर, बोली- 'पैसे खत्म हो गए तो आ गई'

MP: बड़ी खबर! बिजली का बकाया बिल भरने पर मिलेगी 40 फीसदी की छूट

'अगली बार गोली अंदर होगी।।', कांग्रेस राज में कौन करना चाहता है भाजपा सांसद रंजीता कोहली की हत्या ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -