कोरोना के वजह से फीका पड़ा ओणम का त्यौहार, नहीं निकल पाया जुलुस

कोच्चि: कोरोना संक्रमण के बीच केरल में ओणम के 10 दिवसीय पर्व की फीकी शुरुआत हुई और अधिकतर लोगों ने शनिवार को अथम पर्व घर के अंदर ही रहकर मनाया गया हैं. बीते वर्ष की तरह सड़कों पर रंग बिरंगा जुलूस नहीं निकला गया हैं. अफसरों ने बोला की तत्कालीन कोचीन प्रदेश की कैपिटल त्रिपुनिथुरा में आयोजित होने वाले पारंपरिक अथचमयम जुलूस में कथकली जैसे नृत्य और अन्य लोक कलाएं प्रदर्शित की जाती थीं.

उन्होंने बोला हैं कि सैकड़ों लोगों के अलावा विदेशी पर्यटक भी त्रिपुनिथुरा में पर्व मनाने के लिए एकत्रित होते थे. अफसरों ने बोला हैं कि साल 2018 और 2019 में अथचमयम जुलूस बाढ़ के वजह से आयोजित नहीं हो पाया था. उन्होंने बोला कि इस वर्ष कोरोना संक्रमण के वजह से पर्व की चमक फीकी रही. प्रचलित दंतकथाओं के मुताबिक, राजा महाबली ओणम के वक्त अपनी प्रजा को देखने आते हैं और उनके स्वागत में उत्सव को धूमधाम से मनाया जाता है.

जानकरी के लिए बता दें की प्रदेश में कोरोना का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा हैं. प्रदेश में कोरोना संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 54,182 पर पहुंच गई हैं. वहीँ, भारत में कोरोना संक्रमण के मामलों में निरंतर तेजी देखने को मिल रही है. रविवार को 69,239 नए केस सामने आए. कोरोना मरीजों का आंकड़ा तीस लाख के पार पहुंच गया है. लेकिन राहत की बात यह है कि कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या साढ़े 22 लाख से अधिक हो गई है और जांच में रिकॉर्ड तेजी आई है.

तेलंगाना में 2384 तो आंध्र-प्रदेश में 10276 सामने आए कोरोना के नए मामले

CM YS जगन ने दी मेगास्टार चिरंजीवी को जन्मदिन की शुभकामनाएं

तेलुगु देशम पार्टी को लगा एक और बड़ा झटका, YSRCP में शामिल हुआ यह पूर्व विधायक


 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -