संसद के पहले दिन सदन में विपक्ष ने लगाए लोकतंत्र और संविधान बचाओ के नारे, लेकिन राष्ट्रगान से क्यों नदारद रहे राहुल गांधी ? Video

संसद के पहले दिन सदन में विपक्ष ने लगाए लोकतंत्र और संविधान बचाओ के नारे, लेकिन राष्ट्रगान से क्यों नदारद रहे राहुल गांधी ? Video
Share:

नई दिल्ली: सोमवार (25 जून) को 18वीं लोकसभा के सत्र का पहला दिन था। रायबरेली से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी सत्र में शामिल हुए, और संविधान तथा लोकतंत्र बचाने के नारे लगाए, कांग्रेस के सभी सांसद हाथ में संविधान की छोटी प्रति लिए दिखाई दिए और कहा कि वे संविधान और लोकतंत्र बचाने के लिए लड़ रहे हैं। लेकिन अब विपक्ष के प्रमुख नेता राहुल गांधी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो गया है। ये वीडियो लोकसभा सत्र की शुरुआत में होने वाले राष्ट्रगान का है। राष्ट्रगान के वक़्त राहुल सदन में नज़र नहीं आ रहे हैं, वे राष्ट्रगान का समापन होने के बाद सदन में प्रवेश करते हैं। 

 

इस वीडियो को लेकर अब सोशल मीडिया पर नई बहस ने जन्म ले लिया है। लोग कह रहे हैं कि संविधान और लोकतंत्र को बचाने के दावे करने वाले राहुल गांधी आखिर सत्र के पहले ही दिन राष्ट्रगान के समय कहा चले गए थे ? वीडियो में साफ़ नज़र आ रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उनकी कैबिनेट के मंत्री और तमाम सांसद खड़े होकर सावधान की मुद्रा में राष्ट्रगान गा रहे हैं, वहीं राहुल गांधी नदारद हैं। इसके बाद सोशल मीडिया पर लोग आरोप लगा रहे हैं कि राहुल ने राष्ट्रगान का तिरस्कार किया है। आखिर संसद सत्र का पहला दिन था, सुबह से ही सभी सांसद हाथों में संविधान की प्रति लेकर संसद के बाहर दिखाने लगे थे और लोकतंत्र बचाओ, संविधान बचाओ के नारे लगा रहे थे, लेकिन जब सत्र की शुरुआत में राष्ट्रगान हुआ, तो कांग्रेस के प्रमुख नेता राहुल गांधी ही गायब दिखे। कुछ लोग संसद में राहुल गांधी की दिलचस्पी पर भी सवाल उठा रहे हैं, कह रहे हैं कि उन्हें संसद या सदन की कार्यवाही से कोई मतलब ही नहीं है। दरअसल, पिछले 5 सालों में लोकसभा में राहुल गांधी की उपस्थिति महज 51 फीसद ही रही है, बाकी दिनों वे संसद में आते ही नहीं। फिर कभी आते भी हैं, तो हंगामे के कारण सदन स्थगित हो जाता है। 

 

कुछ लोगों ने राष्ट्रीय मूल्यों के प्रति राहुल गांधी की प्रतिबद्धता पर सवाल खड़े किए हैं। दूसरी ओर बहुत से लोगों ने राष्ट्रगान समाप्त होने के बाद सदन में प्रवेश करने के लिए राहुल गांधी का बचाव कर रहे हैं। आंध्र प्रदेश भाजपा के नेता विष्णु वर्धन रेड्डी का कहना है कि राहुल गांधी सोचते हैं कि वह हमारे देश के राष्ट्रगान से भी बड़े हैं, वह राष्ट्रगान का समापन होते ही संसद में दाखिल हुए। क्या वे इसके ख़त्म होने का ही इंतज़ार कर रहे थे ? आखिर उनके ऐसा करने के पीछे कारण क्या था ? वायरल वीडियो को शेयर करते हुए एक यूजर एक्स ने लिखा, "राहुल गांधी राष्ट्रगान के वक़्त सदन में क्यों मौजूद नहीं थे? वह संसद में तभी आए जब राष्ट्रगान पूरा हो गया। क्या चीन को खुश करने के लिए उन्होंने इसका बहिष्कार किया?"

 

एक अन्य यूजर लिखते हैं कि, "प्रत्येक संसद सत्र राष्ट्रगान के साथ आरंभ होता है। प्रधानमंत्री, उनकी कैबिनेट और भाजपा के तमाम मंत्री मौजूद थे। खड़े होकर राष्ट्रगान गा रहे थे। वहीं, राहुल गांधी राष्ट्रगान पूरा होने के फ़ौरन बाद सदन में आते हैं। क्या उन्होंने जानबूझकर ऐसा किया? उन्होंने राष्ट्रगान से परहेज क्यों किया? क्या यह देश के प्रति उनका सम्मान है? आप इन जैसे लोगों पर कैसे विश्वास कर सकते हैं? क्या वे कभी भारत के प्रति वफादार होंगे?"

 

वहीं, एक यूजर ने राहुल गांधी का बचाव किया है, उन्होंने कहा है कि RSS-BJP के लोग सोशल मीडिया पर झूठ फैला रहे हैं। राष्ट्रगान के वक़्त राहुल गांधी सदन के कोने में दूसरे विपक्षी नेताओं के साथ खड़े हुए थे। हालाँकि, सामने आए वीडियो में पूरा सदन दिख रहा है, लेकिन उसमे राहुल गांधी नहीं दिख रहे हैं।  राहुल गांधी का बचाव करते हुए एक अन्य यूज़र ने लिखा कि ''बीजेपी IT सेल द्वारा एक झूठ फैलाया जा रहा है, - झूठ - 'राष्ट्रगान के दौरान राहुल गांधी संसद में मौजूद नहीं थे', सच - राहुल गांधी जी संसद में मौजूद थे और आखिरी पंक्ति के कोने पर खड़े थे जब राहुल गांधी जी संसद भवन में दाखिल हुए तब राष्ट्रगान चल रहा था, इसलिए सीधे अपनी सीट पर जाने के बजाय राहुल जी राष्ट्रगान के सम्मान में वहीं आखिरी पंक्ति में खड़े हो गए।'' दरअसल, राहुल गांधी को बतौर सांसद सीट आवंटित है, सदन की शुरुआत में एक जिम्मेदार सांसद के रूप में उनके अपनी सीट पर होने की उम्मीद जताई जा रही थी, खासकर तब, जब 18वीं लोकसभा का पहला सत्र शुरू हो रहा था। बता दें कि, संसद सत्र के पहले दिन संसद परिसर में विपक्षी सांसदों ने शक्ति प्रदर्शन किया है। विपक्षी सांसद संविधान की कॉपी लेकर संसद में पहुंचे और उन्होंने 'लोकतंत्र बचाओ', संविधान बचाओ के नारे लगाए।

इतिहास रचते हुए सेमीफाइनल में पहुंचा अफगानिस्तान, वर्ल्ड कप से बाहर हुआ ऑस्ट्रेलिया

देश में 3 बार लागू हुआ आपातकाल, फिर इंदिरा गांधी को ही क्यों कहा जाता है 'तानाशाह' ?

ट्रेनों में मिले महिला की लाश के टुकड़ों को लेकर हुआ चौंकाने वाला खुलासा, पुलिस भी रह गई सन्न

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -