FIR दर्ज होने पर बोले दिग्विजय सिंह- 'एक नहीं एक लाख केस कर दो, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता'

भोपाल: मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम एवं कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भोपाल सहित 5 शहरों में धार्मिक उन्माद फैलाने के इल्जाम पर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज होने पर बड़ा बयान दिया है। बुधवार को दिग्विजय सिंह ने कहा कि सांप्रदायिक उन्माद के खिलाफ बोलने पर मुझ पर एक नहीं एक लाख मामले दर्ज कर लो, मुझे कोई चिंता नहीं है। मुझे किसी का डर नहीं है।  
 
बता दे कि मंगलवार को पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने बिहार की एक तस्वीर को खरगोन का बताकर ट्वीट किया था। फिर उसे डिलीट कर दिया। तस्वीर में एक शख्स धार्मिक स्थल पर भगवा झंडा लगा रहा था। इस मामले में दिग्विजय के खिलाफ भोपाल में कूटरचित दस्तावेज से धार्मिंक उन्माद फैलाने सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ। तत्पश्चात, ग्वालियर, जबलपुर एवं नर्मदापुरम में भी दिग्विजय सिंह के खिलाफ FIR दर्ज हुई। इस पर दिग्विजय सिंह ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सांप्रदायिक उन्माद के खिलाफ बोलने पर कितने ही मुकदमे दर्ज हो जाए, मुझे फर्क नहीं पड़ता। वह तस्वीर खरगोन की नहीं थी, इस कारण मैंने ट्वीट डिलीट कर दी। पूरे देश में भाजपा का एजेंडा चल रहा है। मेरे खिलाफ भी चले तो मुझे फर्क नहीं पड़ता।

वही अपने ऊपर लग रहे इल्जामों पर दिग्विजय सिंह ने सफाई दी है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि मेरे परिचित ने अनेक चित्र तथा वीडियो भेजे थे। उसमें यह चित्र भी भेजा था। मैंने अपने ट्वीट में इस आधार पर किसी भी धार्मिक स्थल पर हथियार लेकर झंडा लगाने के औचित्य पर सवाल किया था। उसके बाद भाजपा की शिकायत पर मेरे खिलाफ कई धाराओं में मुकदमे दर्ज हुए। हालांकि, इस चित्र के बारे में मुझे जैसे ही खबर प्राप्त हुई कि यह बिहार के मुजफ्फरपुर का है, मैंने तुरंत ट्वीट ही डिलीट कर दिया। तत्पश्चात, खरगोन दंगे पर मेरे सवाल यथावत रहेंगे। 

'15 मिनट के लिए पुलिस हटाओ, 100 करोड़ हिन्दुओं को दिखा देंगे...', हेट स्पीच मामले में अकबरुद्दीन ओवैसी बरी

रामनवमी पर हुई हिंसा को लेकर गुस्से में मायावती, सरकार को लगाई फटकार

अपने दोनों उपमुख्यमंत्रियों के साथ दिल्ली में सीएम योगी, मोदी-शाह और राष्ट्रपति से मुलाकात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -