'ओमिक्रॉन' के कारण क्रिसमस और न्यू ईयर के जश्न पर लगा ग्रहण, क्या लग जाएगा लॉकडाउन?

नई दिल्ली: दुनियाभर में कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन ने सभी की समस्याएं बढ़ा दी है। ओमिक्रॉन से अमेरिका में पहली मौत हुई है तो वहीं ब्रिटेन में अबतक इस वेरिएंट ने 12 व्यक्तियों की जान ले ली है। इस बीच अब क्रिसमस तथा नए साल की पार्टियों को लेकर सरकारों की समस्याएं बढ़ रही है। नीदरलैंड ने पहले ही 14 जनवरी तक अपने देश में लॉकडाउन लगा दिया है। यहां विद्यालय, कॉलेज, म्यूज़ियम, पब, डिस्कोथेक तथा रेस्टोरेंट्स पूर्ण रूप से बंद रहेंगे। वहीं, अमेरिका तथा ब्रिटेन की सरकारें भी अब क्रिसमस तथा नए वर्ष पर भीड़ को देखते हुए आंशिक लॉकडाउन लगा सकती हैं।

ब्रिटेन में फिलहाल नाइट क्लब तथा पार्टियों में जाने से पहले टीकाकरण प्रमाण पत्र दिखाना अनिवार्य कर दिया है, तो वहीं, इजरायल ने आज से अमेरिका, कनाडा तथा जर्मनी समेत 10 देशों को नो-फ्लाई लिस्ट में डालकर यात्रा पर पाबंदी लगा दी है। फ्रांस की सरकार ने क्रिसमस तथा नये वर्ष पर आतिशबाजी पर पूर्ण तौर पर पाबंदी लगा दी है जिससे लोगों की भीड़ जमा ना हो सके। आयरलैंड ने भी अपने देश में पब और बार में रात 8 बजे के पश्चात् प्रवेश बंद करने का आदेश जारी किया है

वही भारत के कई प्रदेशों में ओमिक्रॉन अब रफ़्तार से अपने पैर पसार रहा है। देश में सोमवार को ओमिक्रॉन के 6 नए रोगी मिले हैं, जिसके पश्चात् ओमिक्रॉन से संक्रमितों के केस अब बढ़कर 171 हो चुके हैं। सबसे बड़ी बात है कि दिल्ली में ओमिक्रॉन के रोगी अब निरंतर मिल रहे हैं तो वहीं दिल्ली में बीते 6 माह में पहली बार एक दिन में 100 से अधिक कोरोना मामले भी सामने आए हैं। महाराष्ट्र सरकार ने क्रिसमस तथा नए साल की पार्टियों में पाबंदी लगाने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए है। वही भारत में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है, इसके लिए विशेषज्ञ बार-बार चेतावनी दे रहे हैं। पहली चेतावनी IIT कानपुर ने दी कि जनवरी एवं फरवरी में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है।

मनाली जाने का बना रहे है मन तो एक नज़र डाल लें इन तस्वीरों पर

बड़ी खबर: अब 21 वर्ष से कम उम्र के लड़के के साथ विवाह करना होगा प्रतिबंधित, जानिए पूरा मामला

कोविड वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट से प्रधानमंत्री की फोटोज हटाने की मांग करना पड़ गया भारी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -