फिल्मों में खलनायक बनते थे ओम शिवपुरी, पत्नी और बेटी ने भी इंडस्ट्री में मचाई धूम

ओम शिवपुरी को तो आप सभी बहुत अच्छे से जानते होंगे। ओम शिवपुरी पुरानी फिल्मों में नजर आते थे और अक्सर ही खलनायक की भूमिका निभाते थे। ओम शिवपुरी 70 के दशक में करीब हर दूसरी फिल्म में नजर आते थे और आज उनकी पुण्यतिथि है। जी दरअसल ओम शिवपुरी का निधन 1990 में 52 साल की उम्र में हो गया था। उस समय उन्हें अचानक ही हार्ट अटैक आया था और उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। ओम शिवपुरी ने अपने करियर में कई हिट फिल्मों में काम किया, जो आपने देखी ही होंगी।

ओम शिवपुरी का जन्म राजस्थान में हुआ था और उन्होंने अपने करियर की शुरुआत जयपुर में एक रेडियो स्टेशन में काम करके की थी। उस दौरान सुधा शिवपुरी भी वहां काम करती थीं और बाद में उन दोनों ने शादी कर ली थी। ओम शिवपुरी ने दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से ग्रेजुएशन किया, वहीं उसके बाद साल 1971 में ओम शिवपुरी ने बॉलीवुड में कदम रखा। यहाँ उनकी पहली फिल्म 'आसाढ़ का एक दिन' थी। वहीं साल 1974 में वो मुंबई शिफ्ट हो गए और उन्होंने दो दशक तक फिल्म इंडस्ट्री में काम किया।

उन्होंने करीब 175 फिल्मों में काम किया और इन सभी में अधिकतर वह खलनायक के किरदार में नजर आए। बात करें ओम शिवपुरी की पत्नी सुधा की तो वह भी कई फिल्मों और टीवी सीरियल में नजर आईं। आप सभी ने सुधा को बासु चैटर्जी की फिल्म 'स्वामी' से लेकर 'इंसाफ का तराजू', 'हमारी बहू अलका', 'सावन को आने दो,' 'सुन मेरी लैला', 'बर्निंग ट्रेन', 'विधाता', 'माया मेमसाब' और 'पिंजर' जैसी फिल्मों में देखा होगा। बहुत कम लोग जानते हैं कि ओम शिवपुरी और सुधा की बेटी रितु शिवपुरी हैं जो बॉलीवुड की पॉपुलर एक्ट्रेस रहीं हैं। उन्होंने गोविंदा की हिट फिल्म 'आंखें' में लीड रोल निभाया था और इसके अलावा वह कई शोज में भी दिख चुकीं हैं।

शाहरुख के लाड़ले को फिर नहीं मिली बेल, अब इस दिन आएगा कोर्ट का फैसला

कोर्ट के सामने NCB ने कहा- काफी सालों से ड्रग्स का सेवन कर रहा है आर्यन...

रिलीज होते ही विवादों में घिरा ‘मीनाक्षी सुंदरेश्वर’ का टीजर, जानिए किस बात पर भड़के लोग

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -