अधिकारी खा रहे कुपोषण का पैसा

सोंईकलां: आईसीडीएस के तहत संचालित योजना से अधिकारी कुपोषण मिटाने के बजाए पैसे की बंदरबांट कर रहे है. यह आरोप ग्राम पंचायत दांतरदा कलां के सरपंच रामसिंह मीणा ने लगाए है. सरपंच श्री मीणा ने बताया कि सुपोषण अभियान के दोरान उसके गांव में स्नेह शिविर आयोजित किया गया था इसमें बच्चों को विशेष पोष्टिक भोजन दिया जाना था जिसके लिए बच्चों के सुपोषण के लिए 10 हजार रुपए से अधिक की राशि भेजी गई थी पर एस कुछ नहीं हुआ|

सुपरवाइजर सरला गुप्ता द्वारा मुझसे ले लिए गए थे। उस पैसे से एक रुपया भी खर्च नहीं किया गया है. आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने इस संबंध में सरपंच द्वारा निरीक्षण पत्र पर हस्ताक्षर लिए. निरीक्षण टीम ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से सुपरवाइजर द्वारा जबरदस्ती पैसे निकलवाने की बात लिखी गई है।

स्वसहायता समूह द्वारा नियमित भोजन नास्ता अन्य बच्चों को दिया गया. वहीं विशेष चिहिन्त अतिकुपोषित बच्चों को भी दिया गया है. मेरे द्वारा जब निरीक्षण किया गया तो यह बात सामने आई है. आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने मुझे बताया कि 10 हजार रुपए बच्चों को विशेष पोष्टिक भोजन कराने के लिए आए थे।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -