यहां के बच्चों ने आज तक नहीं देखी रेल, तो सरकार ने किया ये काम

यहां के बच्चों ने आज तक नहीं देखी रेल, तो सरकार ने किया ये काम

रेल तो आपने देखी ही होगी, ऐसा शायद ही कोई होगा जिसने रेल नहीं देखी होगी. लेकिन एक जगह ऐसी भी है, जहां की हम बात करने जा रहे हैं. जी हाँ, आप ये सुनकर हैरान होंगे कि वहां के बच्चों ने कभी रेल नहीं देखी है. अगर आपको भी नहीं पता इसके बारे में तो हम आपको बता देते हैं जहां रेल का नेटवर्क आज भी उस जगह से नहीं जुड़ा हुआ है. चलिए जानते हैं उस जगह के बारे में जहां पर बच्चों ने रेल नहीं देखी.

ये है अनोखा मंदिर जहां मिसाइल की होती है पूजा

हम बात कर रहे हैं ओडिशा के मलकानगिरी जिला की जहां का क्षेत्र रेल नेटवर्क से आज भी जुड़ा हुआ नहीं है. ऐसे में बच्चों ने रेल नहीं देखी है और इसी सपने को पूरा करने के लिए स्कूल को रेल का रूप दे दिया है. इससे इन बच्चों को रेल के बारे में सारी जानकारी मिलेगी और रेल के बारे में बताया जायेगा. ये काम सर्वशिक्षा अभियान की तरफ से शुरू किया गया है. इसी अभियान पर प्रधान शिक्षक प्रकाश नायक ने कहा कि बच्चों को रेल के बारे में असली ज्ञान मिलेगा. 

गाल को चीरते हुए बच्चे के सिर में घुसी लोहे की छड़, ऐसे बची जान

आपको बता दें, बच्चों को जानकारी देने के लिए पहले दीवारों पर रेल के चित्र बनाये गए जिसे बच्चे देखते थे लेकिन उन्हें इसके बारे में कुछ पता नहीं था. इसके बाद धीरे-धीरे उन्होंने स्कूल को ट्रेन के रूप में बदला और इसी तरह स्कूल में रेल की  जानकारी दी जाने लगी. मलकानगिरी जिला में सभी बच्चों को अब रेल के बारे में पता चल रहा है कि ये क्या है और क्यों है. इसके पहले उन्हें इसके बारे में कुछ नहीं पता था, क्योंकि इसका नेटवर्क वहां तक नहीं पहुंचा था. 

सिर्फ पांच महीने में शख्स कुछ ऐसे बन गया करोड़पति

देखा जा सकता है, एक तरह इंसान ना जाने कितनी तकनीक से आगे बढ़ता जा रहा है लेकिन वहीं दूसरी ओर ये बच्चे भी हैं जिन्हें ट्रेन के  बारे में भी नहीं पता तो उन्हें हवाई जहाज़ के बारे में कितना जानते होंगे. कह सकते हैं ओडिशा का ये जिला बहुत ही पिछड़ा है. इतना ही नहीं, मालकानगिरी जिला के माल्यवंत में आज तक रेलगाड़ी भी नहीं पहुंच पायी है. ये बात तभी पता चली जब बच्चों ने कहा कि उन्होंने कभी रेलगाड़ी भी नहीं देखी. उन्होंने सिर्फ टीवी में ही ट्रेन देखी है और अगर सरकार सुविधा दे तो वो भी इस ट्रेन की सुविधा का मज़ा ले सकते हैं. लेकिन अभी स्कूल में ही ट्रेन देखकर अपनी ख़ुशी को जाहिर कर देते हैं.  

यह भी पढ़ें..

लड़की के पास आ कर सोया कोबरा तो हुआ कुछ ऐसा

फिजिकल रिलेशन के मामले पुरुष बढ़ा चढ़ा कर ही करते हैं लड़कियों की बात

?