निजामुद्दीन मरकज़ मामले पर नुसरत जहां का बयान आया सामने

कोरोना वायरस के वजह से पूरे देश में लॉकडाउन लगा हुआ है. इसी के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए तब्लीगी जमात मरकज़ मामले पर नवाजुद्दीन सिद्दीकी के बाद अब बंगाली एक्ट्रेस और सांसद नुसरत जहां का भी बयान सामने आ गया है. मीडिया से बातचीत में नुसरत ने कहा कि देश में बहुत से धर्म हैं. कोई भी किसी तरह के प्रोग्राम में हिस्सा नहीं ले रहा है. मरकज के मामले ने हमें काफी पीछे लाकर खड़ा कर दिया है.

इस बारें में एक्ट्रेस ने कहा है की, 'इस वक्त देश एक मुश्किल दौर से गुज़र रहा है. ऐसे में मैं हाथ जोड़कर लोगों से अपील करूंगी कि अभी के लिए राजनीतिक बातें करना बंद कर दें. इस नाज़ुक वक्त में में हमें राजनीतिक, धार्मिक और जातियों से जुड़ी बातों को बंद कर देना चाहिए. '  एक्ट्रेस ने आगे कहा,'अफवाह फैलाने से बेहतर है कि आप अपने घर पर सुरक्षित रहें. क्वारंटीन में रहें. धर्म बाद में आता है, सतर्कता अपनी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए, क्योंकि कोई भी बीमारी धर्म, ऊंच-नीच देखकर नहीं अटैक करती है. ये हमारे लिए बेहद संवेदनशील समय है और आप चाहें किसी भी धर्म के हों, आपको इस खतरनाक वायरस को समझना चाहिए. '

जानकरी के लिए बता दें कि दक्षिणी दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में 1 से 15 मार्च के बीच तब्लीगी जमात के कार्यक्रम में 2000 से ज्यादा लोगों ने शिरकत की थी. इस कार्यक्रम में चीन, यमन, बांग्लादेश, श्रीलंका, इंडोनेशिया, सऊदी अरब, अफगानिस्तान, इंग्लैंड के भी 100 से अधिक लोग मौजूद थे. इस मरकज में शामिल होने वाले 300 लोग कोरोना संदिग्ध पाए गए हैं. इसके साथ ही अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है.

7 माह का गर्भ, साथ में 2 साल का मासूम, सैकड़ों किमी पैदल चल अपने गाँव पहुंची महिला

लॉकडाउन में सरकार ने गरीबों को दी बड़ी राहत. बढ़ाया मनरेगा मजदूरों का वेतन

एक दिन में 25 लोग दिल्ली में निकले संक्रमित, इस आयोजन पर उठे सवाल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -