खट्टर सरकार की बड़ी कामयाबी, सरकारी स्कूलों में विद्यार्थी बढ़े

Aug 03 2018 07:32 PM
खट्टर सरकार की बड़ी कामयाबी, सरकारी स्कूलों में विद्यार्थी बढ़े

चंडीगढ़: हरियाणा में खट्टर सरकार को इसी साल अक्टूबर में 4 साल पुरे होने वाले हैं, इन 4 सालों में हरियाणा का शिक्षा स्तर जिस तरह से बढ़ा है, उसके लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर निश्चित रूप से बधाई के पात्र हैं. एक समय था जब हरियाणा के सरकारी स्कूल सुने पड़े हुए थे, लेकिन मुख्यमंत्री खट्टर के नेतृत्व में शिक्षा विभग्ग द्वारा चलाई गई मुहीम रंग लाने लगी है. लगातार कोशिशों के बाद अब हरियाणा के अभिभावकों का सरकारी स्कूलों में भरोसा बढ़ा है और इसीसे हरियाणा के सरकारी स्कूलों में बच्चों की तादाद भी बढ़ी है.

हरियाणा: बाढ़ प्रभावितों को खट्टर सरकार देगी मुआवज़ा

हरियाणा सरकार द्वारा शिक्षा निदेशालय की आइटी सेल से मांगी गई रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि की है. रिपोर्ट में बताया गया है कि बीते सत्र में प्राथमिक स्कूलों में जहां आठ हजार बच्चे अधिक आए, वहीं नौवीं से बारहवीं तक 18 हजार अधिक बच्चों ने सरकारी स्कूलों में दाखिला लिया. बच्चों का पलायन रोकने के लिए शिक्षा विभाग ने सर्व शिक्षा अभियान, एसएसए और राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के सहयोग से प्लान तैयार किया था.

ख़तरे के निशान से ऊपर यमुना-आस पास के गावों को ख़तरा

इस प्लान के तहत  स्मार्ट क्लास, ज्वायफुल डे, अंग्रेजी मीडियम से पढ़ाई, लर्निंग लेवल टेस्ट सहित कई कदम उठाए गए थे, जिससे अभिभावक और बच्चे दोनों स्कूल की तरफ आकर्षित हुए. शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने इस मामले पर ख़ुशी जताते हुए कहा है कि पिछले कुछ वर्षों में छात्र संख्या में गिरावट की वजह ऑनलाइन सिस्टम था, एक ही बच्चे का सरकारी और प्राइवेट दोनों स्कूलों में दाखिले का फर्जीवाड़ा हमने बंद किया है, उन्होंने कहा कि पिछले पौने चार साल में सरकारी स्कूलों की स्थिति में तेजी से सुधार हुआ है. 

खबरें और भी-​

आतंकी नवीद को भगाने वालों के खिलाफ NIA की चार्जशीट दाखिल

उत्तराखंड में पकड़ाया शराब का जखीरा, अनुमानित कीमत 3 करोड़

EDITOR DESK: आखिर कब सुरक्षित होंगी हमारी बच्चियां?

?