साइबर क्राइम का गढ़ बनता जा रहा नूह ! अब फर्जी DSP बनकर लोगों को ठगने वाले खालिद और अकील धराए

साइबर क्राइम का गढ़ बनता जा रहा नूह ! अब फर्जी DSP बनकर लोगों को ठगने वाले खालिद और अकील धराए
Share:

नूंह: हरियाणा के मुस्लिम बहुल नूंह जिले में अधिकारियों ने फर्जी पुलिस अधीक्षक (डीएसपी) बनकर एक पूर्व सरपंच से 95,000 रुपये ठगने के आरोप में दो अपराधियों को गिरफ्तार किया है। यह घटना रीठाथ गांव में हुई। 

आरोपी की पहचान खालिद और उसके साथी अकील के रूप में हुई है, जिन्होंने धोखाधड़ी से कॉल करके पीड़ित दिलबाग को निशाना बनाया। खालिद ने खुद को 'डीएसपी शमशेर' बताया, जो दिलबाग का परिचित था। दिलबाग के असली डीएसपी शमशेर से हाल ही में संपर्क न होने का फायदा उठाते हुए खालिद ने अधिकारी की तस्वीर को अपने व्हाट्सएप डिस्प्ले पिक्चर के रूप में इस्तेमाल किया। पीड़ित ने इस दृश्य संकेत और ट्रूकॉलर एप्लिकेशन द्वारा प्रदान की गई पहचान पर भरोसा करते हुए खालिद की चाल पर विश्वास कर लिया।

धोखे को जारी रखते हुए खालिद ने अगले दिन दिलबाग को फोन किया और पारिवारिक समस्या के कारण तत्काल जरूरत की कहानी गढ़ी। खुद को 'डीएसपी शमशेर' बताते हुए खालिद ने एक बैंक खाता नंबर दिया और दिलबाग को अपने भाई के फोनपे खाते के माध्यम से उसमें ₹95,000 ट्रांसफर करने के लिए राजी किया। दिलबाग को तब एहसास हुआ कि उसके साथ धोखाधड़ी हुई है जब खालिद ने बाद में कॉल करके और पैसे मांगे।

दिलबाग ने तुरंत नूह साइबर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई, जिसके बाद पुलिस ने तुरंत कार्रवाई की। अधिकारियों ने जाल बिछाया और शनिवार को खालिद और अकील को गिरफ्तार कर लिया।

खालिद को एक दिन के लिए पुलिस हिरासत में रखा गया है, जबकि उसके साथी अकील को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। पता चला है कि दोनों का डीएसपी शमशेर बनकर नूंह और उसके आसपास के इलाकों के सरपंचों और पूर्व सरपंचों को ठगने का इतिहास रहा है। खालिद के आपराधिक रिकॉर्ड में जुलाई 2023 की नूंह हिंसा में शामिल होना शामिल है, जिसके दौरान उसने साइबर पुलिस स्टेशन पर हमला किया और अदाबर चौक पर अशांति भड़काई।

नूंह जिले में साइबर अपराध की समस्या:-

बता दें कि, 80 फीसद मुस्लिम आबादी वाला ये इलाका कई तरह के अपराधों के लिए कुख्यात है, यहाँ शोभायात्रा पर भी हमला हुआ था. नूह साइबर अपराध के केंद्र के रूप में बदनाम हो चुका है, जिसकी तुलना 'नए जामताड़ा' से की जा रही है, जो ऑनलाइन धोखाधड़ी के लिए कुख्यात झारखंड का छोटा शहर है। हाल की घटनाओं में नवंबर में नूह पुलिस की अपराध जांच एजेंसी (सीआईए) टीम द्वारा सेक्सटॉर्शन रैकेट का भंडाफोड़ शामिल है।

इससे पहले, 31 जुलाई, 2023 को नूंह में हुई हिंसा के दौरान एक इस्लामवादी भीड़ ने साइबर पुलिस स्टेशन को एक पूर्व नियोजित हमले में निशाना बनाया था। भीड़ ने एक अपहृत बस का उपयोग करके साइबर धोखाधड़ी के सबूतों को नष्ट करने के लिए स्टेशन में तोड़फोड़ की। इस हमले का उद्देश्य साइबर अपराध के खिलाफ अपनी लड़ाई में पुलिस द्वारा एकत्र किए गए महत्वपूर्ण सबूतों को मिटाना था।

शाकाहारी बच्चों को जबरन परोसा जा रहा मांसाहारी भोजन ! बंगाल में स्कूल के बाहर जुटे अभिभावक, भजन गाकर किया विरोध

तमिलनाडु में खुदाई के दौरान मिला चोल साम्राज्य का ऐतिहासिक भंडार, जमीन से निकली ये वस्तुएं

महज दो दिन में हो जाती है मौत ! इस देश में तेजी से फ़ैल रहा 'मांस खाने वाला बैक्टीरिया'

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -