तालिबान को NSA अजित डोभाल का स्पष्ट सन्देश, बताया क्या है अफगानिस्तान और भारत का संबंध

नई दिल्ली: राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल ने शुक्रवार को दुशांबे में अफगानिस्तान पर चौथे क्षेत्रीय सुरक्षा संवाद में हिस्सा लेते हुए इस बात पर जोर दिया कि भारत अफगानिस्तान में एक महत्वपूर्ण हितधारक था। उन्होंने यह भी कहा कि इसे कोई भी नहीं बदल सकता है। नवंबर 2021 में नई दिल्ली में आयोजित की गई अफगानिस्तान पर तीसरी क्षेत्रीय सुरक्षा वार्ता के बाद ताजिकिस्तान, भारत, रूस, कजाकिस्तान, उजबेकिस्तान, ईरान, किर्गिस्तान और चीन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों ने दुशांबे में अफगानिस्तान पर क्षेत्रीय सुरक्षा वार्ता में हिस्सा लिया।

NSA डोभाल ने अफगानिस्तान और क्षेत्र की स्थिति पर बातचीत की। उन्होंने अफगानिस्तान में शांति और स्थिरता सुनिश्चित करने और क्षेत्र से पैदा होने वाले आतंकवाद के जोखिमों से निपटने के लिए रचनात्मक तरीके खोजने की जरूरत पर प्रकाश डाला। डोभाल ने कहा कि, 'भारत, अफगानिस्तान में एक अहम हितधारक था और है। सदियों से अफगानिस्तान के लोगों के साथ खास ताल्लुक भारत के दृष्टिकोण का मार्गदर्शन करेंगे, इसे कोई भी नहीं बदल सकता है।' सूत्रों के मुताबिक, डोभाल ने बैठक के इतर ईरान, ताजिकिस्तान, रूस और वार्ता में अन्य भागीदारों के अपने समकक्षों के साथ भी बैठक की।

NSA डोभाल ने अपने समकक्षों से कहा कि अफगानिस्तान की जनता का एक विशेष स्थान है। एनएसए डोभाल ने महिलाओं और अल्पसंख्यकों समेत अफगान समाज के तमाम वर्गों के प्रतिनिधित्व की आवश्यकता पर प्रकाश डाला ताकि अफगान आबादी के सबसे बड़े संभावित अनुपात की सामूहिक ऊर्जा राष्ट्र निर्माण में योगदान करने के लिए प्रेरित महसूस करे।

'ज्ञानवापी में मिले शिवलिंग में मुस्लिम पक्ष ने किया 63 cm का छेद...', कोर्ट में हिन्दू पक्ष का दावा

दिल्ली के मक्कड़ हॉस्पिटल में भड़की भीषण आग, डॉक्टरों का आवास जलकर ख़ाक.., देखें भयावह तस्वीरें

IAS अफसर को मिली कुत्ते की 'शाही सैर' की सजा, जाना पड़ा पत्नी से 3500 KM दूर

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -