अब मुख़्तार अंसारी की पत्नी के नाम पर संचालित पेट्रोल पंप कुर्क करेगी योगी सरकार, जानिए क्यों ?

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बांदा जेल में कैद गैंगस्टर मुख्तार अंसारी की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है। राज्य में योगी आदित्यनाथ सरकार के आने के बाद मुख्तार पर एक के बाद एक वार हो रहे हैं। मुख्तार की अरबों रुपए की संपत्ति को जब्त कर लिया गया है और उसके गुर्गों पर भी राज्य सरकार ने बड़ी और कड़ी कार्रवाई की है। वहीं, राजधानी लखनऊ में माफिया मुख्तार के बेटों के नाम पर डालीबाग में स्थित मकान को गिराने के बाद अब मुख्तार की बीबी आयशा अंसारी की भूमि पर बने पेट्रोल पंप को बंद करने की तैयारी चल रही है।

जानकारी के अनुसार, हुसैनगंज के 21 विधानसभा मार्ग पर ये पेट्रोल पंप स्थित है। बड़ी बात तो ये है कि हिंदुस्तान पेट्रोलियम के पास इस पेट्रोल पंप का कोई भी एग्रीमेंट नहीं है। वहीं इस पेट्रोल पंप को नियमों को ताक पर रखते हुए बनाया गया है। लिहाजा अब LDA इस पेट्रोल पंप को बंद करने की दिशा में कार्रवाई कर रहा है। LDA के अफसरों के अनुसार, पेट्रोल पंप लगभग 8900 वर्ग फीट पर बना है और इसका एक हिसा मुख्तार अंसारी की बीबी के पास है। बताया जा रहा है कि लखनऊ विकास प्राधिकरण के सचिव पवन गंगवार को आजमगढ़ पुलिस ने रिपोर्ट भेजी है। जिसके अनुसार, पेट्रोल पंप को नियमों को नज़रअंदाज़ कर बनाया गया है।

असल में इस जमीन को लेकर विवाद है। क्योंकि इस भूमि के रिकार्ड ना तो LDA के पास हैं और ना ही नगर निगम के। वहीं बताया जा रहा है कि आयशा अंसारी द्वारा 25 अगस्त 2007 को खरीदी गई जमीन के दक्षिणी हिस्से में एक पेट्रोल पंप भी संचालित है। LDA की रिपोर्ट में पूरी भूमि के एक बड़े हिस्से की लीज भी खत्म हो गई है और इसका नक्शा भी प्राधिकरण से स्वीकार नहीं है। वहीं कहा जा रहा है कि आजमगढ़ पुलिस की SWAT टीम इस मामले में लखनऊ के जिलाधिकारी से मुलाकात कर LDA सचिव से भी मुलाकात करेगी और अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। इसके बाद इस जमीन की कुर्की की प्रक्रिया शुरू होगी। 

अब आतंकियों पर चलेगा सीएम योगी का डंडा, जम्मू-कश्मीर में कैद 26 आतंकियों को भेजा जा रहा यूपी

शिया वक़्फ़ बोर्ड में लौटे वसीम रिज़वी, यूपी सरकार ने बनाए 8 सदस्य

पंजाब कांग्रेस के प्रभारी बने हरीश चौधरी देंगे मंत्री पद से इस्तीफा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -