इस फैसले के बाद विश्व का आखिरी देश बना सऊदी अरब

सऊदी अरब से एक खबर मिल रही है, हालाँकि सऊदी अरब जैसे विकासशील देश के लिए यह खबर थोड़ी शर्मनाक है वहीं बहुत ज्यादा अच्छी है. शर्मनाक और अच्छी के बीच आपको बता दें, सऊदी अरब में काफी समय लड़कियां अपनी आजादी के लिए संघर्ष कर रही थी, दरअसल यह आजादी थी उनकी ड्राइविंग को लेकर, जिसको अब सऊदी अरब की सरकार ने परमिशन दे दी है. 

हैरान कर देने वाली बात तो यह है कि सऊदी अरब इतना विकास करने वाला देश होने के बावजूद इतना पीछा रहा कि यह दुनिया का आखिरी देश है, जिसने लड़कियों की ड्राइविंग पर बैन लगाकर रखा था इसका मतलब यहाँ लड़कियां गाड़ी नहीं चला सकती, लेकिन अब जाकर सऊदी अरब ने नरम रुख अपनाते हुए समाज के हित इस बैन को हटा दिया है. 

कल ही आए इस फैसले के बाद लड़कियों ने खुद गाड़ी ड्राइव कर अपनी आजादी को एन्जॉय किया, इस मौके पर सऊदी अरब की सड़कों पर देर रात तक लड़कियां अपनी गाड़ियां ड्राइव करती नजर आई थी. वहीं लड़कियों ने इस फैसले को एक त्यौहार के जैसे एन्जॉय किया और इसका जश्न भी मनाया. 

बता दें, क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के इस फैसले के बाद माना जा रहा है कि उन्होंने यह फैसला 2030 के सऊदी अरब विजन के नजरिए से लिया गया है. सऊदी अरब के प्रिन्स का मानना है कि अब समाज को और खोलना जरुरी है. हालाँकि प्रिंस ने इस फैसले को 2017 में ही पारित कर दिया था लेकिन इसे पूर्ण रूप से लागू करने में समय लग गया.

सऊदी अरब की रहने वाली रेमा जवदात ने इस बारे में कहा है कि वो इस फैसले से बेहद खुश है, साथ ही अब वो खुद को आजाद महसूस कर रही है यानी वो कहीं भी अपनी कार से घूमने निकल सकती है. 

55 साल पुराने इस आइलैंड के बारे में सुनकर होगी हैरानी

ये पोजीशन आपके सेक्स को बनाएगी और बेहतर

सेक्स के लिए ये इशारे देती हैं महिलाएं

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -