अब नक्सल अभियानों में तैनात जवानों को मिलेगी एयर एम्बुलेंस की सुविधा, गृह मंत्रालय ने दी मंजुरी

Jul 29 2019 04:15 PM
अब नक्सल अभियानों में तैनात जवानों को मिलेगी एयर एम्बुलेंस की सुविधा, गृह मंत्रालय ने दी मंजुरी

रायपुर: नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन और ऊंचे पहाड़ी क्षेत्रों में रहकर सीमा चौकियों पर तैनात सुरक्षाबलों को अब पूर्णकालिक एयर एंबुलेंस की सेवा दी जाएगी. जिसके तहत अब उन सभी जवानों को एयर एंबुलेंस की सेवा मिल सकेगी, जो नक्सल अभियानों के चलते नक्सली इलाकों में तैनात हैं. गृह मंत्रालय ने MI-17 हेलीकॉप्टर की एयर एंबुलेंस को मंजूरी देते हुए कहा है कि सीमा सुरक्षा बल के जवानों के लिए MI-17 पर एयर एंबुलेंस की सेवा आरंभ की गई है. 

बता दें कि एयर एंबुलेंस का केंद्र झारखंड की राजधानी रांची होगा. यह एयर एंबुलेंस 24 घंटे और सातों दिन तैयार और आवश्यकता पड़ने पर जवानों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए अस्पताल तक पहुंचाने का कार्य करेगी. नक्सल प्रभावित इलाकों में तैनात जवानों के लिए शुरू की गई एयर एंबुलेंस की सेवा में एक डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ और मेडिकल कर्मचारी भी मौजूद रहेंगे, जो जवानों को प्राथमिक उपचार प्रदान करेंगे और इसके साथ ही इस एयर एंबुलेंस में आवश्यक स्वास्थ्य सेवाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी. 

आपको बता दें कि इस एयर एंबुलेंस का लाभ झारखंड के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के अलावा छत्तीसगढ़ के बस्तर, बलरामपुर, सरगुजा, तेलंगाना, और उड़ीसा के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी लिया जाएगा. एंटी नक्सल ऑपरेशन के अलावा यह एंबुलेंस प्राकृतिक आपदा के दौरान भी सेवा देने के लिए उपलब्ध रहेगी. 

बाघों के मामले में अव्वल है मध्य प्रदेश, पीएम मोदी ने जारी किए आंकड़े

बांग्लादेश टीम के इस पूर्व दिग्गज कप्तान का हुआ देहांत

टाइगर डे पर बोले पीएम मोदी, 2022 तक बाघों की संख्या दोगुनी करने का था लक्ष्य, हमने पहले ही पूरा किया